0

नए साल के 5 वास्तविक न्यू इयर रेज़ल्यूशन्स 

सृष्टि अस्थाना. लेखिका, क्लिनिकल हिप्नोथेरेपिस्ट, एम.ए. मेजर इन क्लिनिकल साइकॉलजी, ईमेल sasthana1997@gmail.com

हमने कितनी बार फैसला किया है कि, "इस साल मैं रोज़ जिम जाऊँगा" या "मैं अपने परिवार के लिए और अधिक समय दूंगा" या "मैं धूम्रपान छोड़ दूँगा" आदि। साल के पहले कुछ दिनों के दौरान हम प्रेरणा से भरे हुए होते हैं लेकिन  जैसे जैसे समय बीतता जाता है , हम वाकई ऐसे संकल्पों को भूल जाते हैं जो शुरुआत में इतने यथार्थवादी थे। इन प्रस्तावों के साथ समस्या यह है कि वे बहुत मेनस्ट्रीम या उबाऊ हैं।

 यदि आप वास्तव में इन रेज़ल्यूशन्स को जारी रखते हैं तो यह बहुत सही होगा, लेकिन हम एक आदर्श दुनिया में नहीं रहते, क्या हम आदर्श दुनिया में रहते हैं? क्या हम इन रेज़ल्यूशन्स को जारी रखते हैं?

यहां कुछ नए साल के संकल्प यानी  रेज़ल्यूशन्स हैं जो वास्तव में काम कर सकते हैं और आपके जीवन में एक स्थायी बदलाव ला सकते हैं-

1.      परोपकारिता (आल्ट्रुयिज़म)  पर्यायवाद (आल्ट्रुयिज़म) निस्वार्थता की प्रथा है जो बदले में कुछ भी नहीं देने की आशा करता है। दूसरो से बहुत सारी उम्मीदें वास्तव में हमारी सारी समस्याओं का एक प्रमुख कारण है। जब हम दूसरो के लिए कुछ करते है और हम खुद को अच्छा लगले के लिए वही उम्मीद दूसरो से रखते है तो हम अपने मॅन के अंदर एक खाली स्थान बनाते है जो हम चाहते है की दूसरे भरे। परोपकारी कार्य करने से हमे अपने अंदर एक गहरा संतोष महसूस होता है। शोध ने यह साबित किया है कि जो व्यक्ति नियमित रूप से परोपकारिता का अभ्यास करते हैं, वे सामान्य आबादी की तुलना में अपने मॅन के अंदर बहुत अधिक खुशी और अच्छे स्वास्थ्य की स्थायी भावना का अनुभव कर सकते हैं।



2.  चैतन्यता - एक अवधारणा जिसे बौद्ध परंपरा से प्राप्त किया गया है, चैतन्यता का अर्थ है स्वयं को पूरी तरह से जागरूक और अवगत रखना । हमारी आधुनिक जीवन शैली इतनी व्यस्त और रोबोट जैसी हो गई है ।  क्या हम कभी रुक कर सोचते हैं और खुद से पूछते हैं? क्या मुझे ऐसी ही ज़िंदगी ज़िनी है? प्रत्येक पल के लिए पूरी तरह से जिंदगी को जीना एक बड़ा ही रोमॅंटिक अनुभव है लेकिन क्या ये वास्तविकता मे होता है? अभी तक असंभव धारणा लगती है।  किसी को इतने व्यस्त नहीं होना चाहिए कि हर दिन के अंत में वह सोचता है "मेरा समय कहाँ गया?" सभी इंसानों को प्रति दिन केवल 24 घंटे ही मिलते हैं, कुछ इसका इस्तेमाल बुद्धिमानी से करते हैं, कुछ समय के गुलाम बन जाते हैं। यह इतना आसान है जैसे की जैसे किसी कार्य को करते समय उसमे विलीन हो जाना या थोड़ी देर रुक कर गहरी साँसे लेना, ऐसा आप ज़रूर करे 

3.  हास्य - हंसी सबसे अच्छी दवा है, यहां तक ​​कि विज्ञान भी इससे सहमत है। चेहरे की प्रतिक्रिया परिकल्पना का एक सिद्धांत है । कहा जाता है  कि अगर हम खुशी महसूस नहीं कर रहे हैं लेकिन अगर हम अपने चेहरे पे मुस्कुराहट लाते है तो हमारा मन इस छलावे में आ जाता है  कि हम वास्तव में खुश हैं जो हमारी मनोदशा में बदलाव को परिणाम देगा । तो मुस्कुराते रहिए ये सभी पे भारी पड़ती है। हास्य हमारा सबसे अच्छा रक्षात्मक मानसिक व्यवहार तंत्र है । जब परिस्थितियां कठिन हो जाती हैं तो हमे हमारे रक्षात्मक मानसिक व्यवहार तंत्र का इस्तेमाल करना आना चाहिए । ऐसी मानसिक परिस्थिति में हम चुटकुले भी सुना सकते हैं या हम अपने उन नकारात्मक विचारो पे भी मन में हंस सकते हैं । अपने मान में नकारात्मक विचारों पर हंसी सीखना चाहिए। परिस्थितियों के मजेदार पक्ष को देखने के लिए सीखना आपको अपने मूड को हल्का करने में मदद करेगा और यहां तक ​​कि आपके शरीर को अधिक फिट और  रिलेक्स रखेगा।

4.   अनुशासन - अनुशासन का मतलब यह नहीं है कि 5 बजे जाग गये और जॉगिंग के लिए जा  रहे हैं, इसका मतलब अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग  हो सकता है। लोगों को यह नहीं बताएं कि आपके लिए क्या काम करेगा और क्या नहीं। अनुशासन कुछ लोगों के  लिए 11 बजे बिस्तर पर जाने का, दूसरों के लिए मतलब यह हो सकता है कि उनके पसंदीदा विषय की एक नई अवधारणा सीखना  आपको अपनी गुणवत्ता और तकनीक को बढ़ने के लिए जो भी करने की ज़रूरत हो वह सब डीसिपलिन अथवा अनुशासन  ही  है । हमारे जीवन में बहोत सारी ऐसी चीजें या विचार होते हैं जिनका हमे बहोत ही शिद्धत से पालन करना चाहिए ताकि हमारा संपूर्णा विकास हो सके और हम अपने जीवन ले लक्ष्य के करीब जाते रहे । सफलता की कुंजी हमारे निरंतर प्रयास और हमारे  प्रयासों में स्थिरता है ।

5.    व्यवस्थित  - व्यवस्थित होना बहुत महत्वपूर्ण है। अपने जीवन में आए ठहराव से छुटकारा पाने से आपको विकास और सफलता को आमंत्रित करने में मदद मिलेगी। आपकी अलमारी को साफ करने जैसे छोटे कदम या बड़े कदम जैसे कि आपके जीवन के नकारात्मक लोगों को हटाना। यह दोनों कार्य आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करेंगे और आपको काफी लंबा सफर तय कराएँगे ।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top