0

कई नगा उग्रवादी हुए ढेर, सेना को कोई नुकसान नहीं 

नई दिल्ली। आज तड़के सुबह भारतीय सेना ने म्यांमार सीमा पर बड़े आॅपरेशन को अंजाम दिया है। सेना का ये आॅपरेशन यहां मौजूद एनएससीएन (खापलांग) ग्रुप के उग्रवादियों के खिलाफ हुआ है। इस हमले में कई उग्रवादियों के मारे जाने की खबर है।
इस्टर्न कमांड के अधिकारी ने ट्विटर अकाउंट पर इस कार्रवाई की पुष्टि की है। बताया गया है कि आॅपरेशन में भारतीय सुरक्षा बलों को कोई नुकसान नहीं हुआ है ।
खबरों के मुताबिक यह आॅपरेशन आज तड़के सुबह करीब 4.45 बजे  हुआ। भारतीय सेना ने म्यांमार के नागा इंसर्जेंट कैंप के पास इस आॅपरेशन को अंजाम दिया। इस आॅपरेशन को इंडो-म्यांमार बॉर्डर के लंगखू गांव में अंजाम दिया गया। इस बड़ी कार्रवाई में कई नगा उग्रवादियों के मारे जाने की खबर है।
दो दिन पहले ही सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आतंकियों को चेतावनी देते हुए कहा था कि पिछले वर्ष नियंत्रण रेखा के पार जाकर की गई सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तान के लिए एक संदेश था, आवश्यकता पड़ी तो इस तरह की सर्जिकल स्ट्राइक फिर की जा सकती है।
सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि 27 सितंबर को तड़के भारत-म्यांमार सीमा पर भारतीय सेना की एक टुकड़ी पर अज्ञात उग्रवादियों द्वारा फायरिंग की गई। हमारे सैनिकों ने उग्रवादियों को तुरंत मुहतोड़ जवाब दिया। जवाबी कार्रवाई के बाद उग्रवादी वहां से भाग निकले। खबरों के मुताबिक बड़ी तादाद में उग्रवादी मारे गए हैं। इस मुठभेड़ में हमारे जवानों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। सेना ने साफ कहा है कि भारतीय सैनिकों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार नहीं की है।
ये कोई पहला मौका नहीं है जब भारतीय सेना ने इस तरह की कार्रवाई की है। इससे पहले भी सेना ने म्यांमार और पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को मौत के घाट उतारा है। इस कार्रवाई में सेना ने पीओके में घुसकर आतंकी ठिकानों को नष्ट किया था।
पिछले साल 28-29 सितंबर की दरमियानी रात को भारतीय सेना ने एलओसी पार करके आतंकी लॉन्च पैड पर लक्षित हमले किए थे। इनमें पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को बहुत नुकसान हुआ था। 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top