0

चार हजार लेते हुए इंस्पेक्टर गिरफ्तार

मुंबई। जीएसटी में भी रिश्वतखोरी की शुरुआत हो चुकी
है। सीबीआई ने मुंबई में सेंट्रल सीजीएसटी इंस्पेक्टर को घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई की एंटी करप्शन विंग ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया। सीबीआई  अधिकारी घूसखोर इंस्पेक्टर से पूछताछ कर रहे हैं। मुंबई में जीएसटी में रिश्वत से जुड़ी गिरफ्तारी का यह पहला मामला है।

उल्लेख्य है कि एक जुलाई, 2017 को पूरे देश में नई टैक्स प्रणाली, गुड्स एंड सर्विस टैक्स यानी जीएसटी लागू हो गई थी।  आरोपी सीजीएसटी इंस्पेक्टर का नाम दीपक कुमार है। शिकायतकर्ता को कुछ सामान एक्सपोर्ट करने के लिए बॉंड सर्टिफिकेट की जरूरत थी। यह बॉंड सर्टिफिकेट एयर इंडिया बिल्डिंग के 13 वें फ्लोर स्थित सीजीएसटी विभाग द्वारा जारी किया जाना था। इसके बाद शिकायतकर्ता ने दीपक कुमार से संपर्क किया। दीपक ने कथित सर्टिफिकेट जारी करने के एवज में 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी। शिकायतकर्ता ने सीबीआई की एंटी करप्शन विंग में इसकी शिकायत की। जांच में शिकायत सही पाई गई।
एंटी करप्शन विंग ने मामला दर्ज कर दीपक को रंगे हाथों पकड़ने का प्लान बनाया। जिसके बाद बतौर एडवांस 4 हजार रुपये लेते हुए दीपक को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया। दीपक को सोमवार तक कस्टडी में भेजा गया है। सीबीआई टीम कुमार से पूछताछ कर रही है। इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी से सीजीएसटी विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top