0
प्रदेश भाजपाध्यक्ष ने दी युवा पदाधिकारियों को नसीहत
 वयोवृद्ध जयप्रकाश त्यागी ने गांवों में कार्यक्रम करने की दी सलाह
अजय औदीच्य
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश भाजपा के नए अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पांडेय ने पार्टी के सभी युवा पदाधिकारियों को नसीहत दी है कि वे बुजुर्ग नेताओं को सम्मान दें, वरना पार्टी में उन्हें तवज्जो नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बुजुर्ग नेताओं के अनुभव लें और उनकी सलाह पर काम करने की आदत डालें। पार्टी को अपनी तरह चलाने की गलती कतई ना करें और भाजपा को सिर्फ शहरी इलाकों की पार्टी बनाकर ना रखें।
नई दिल्ली में अपने आवास पर गाजियाबाद के तमाम नेताओं से मुलाकात के दौरान श्री पांडे ने पार्टी के बुजुर्ग नेता मोरटा निवासी 93 वर्षीय जयप्रकाश त्यागी के साथ लम्बी बातचीत की और उनसे गाजियाबाद में पार्टी के हालात पर चर्चा की। इस दौरान श्री त्यागी ने उन्हें सलाह दी कि पार्टी के कार्यक्रमों को ग्रामीण इलाकों में भी करने का सिलसिला शुरू करें, वरना सिर्फ शहर की पार्टी होकर रह गई तो आने वाले चुनावों में नुकसान होगा। उन्होंने पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा में भाजपा के बुजुर्ग नेताओं की उपेक्षा का भी सवाल उठाया और कहा कि युवा नेतृत्व पार्टी की परंम्पराओं को नहीं समझ रहा है।
इस दौरान महेन्द्रनाथ यादव ने कहा कि जो युवा पदाधिकारी बुजुर्ग नेताओं को नजरअंदाज करेंगे, उन्हें पार्टी मंे तवज्जो नहीं दी जाएगी। श्री पांडे ने मौके पर मौजूद कुछ युवा नेताओं से कहा कि बुजुर्ग नेताओं के अनुभवों से सीख लें और उनके मशविरे को तवज्जो देने की आदत डालें। उन्होंने कहा कि भाजपा जिस मुकाम पर पहुंची है, उसमें बेशक युवा कार्यकर्ताओं का बड़ा योगदान है, लेकिन बुजुर्ग पार्टी की नींव हैं। उनके बिना कुछ भी संभव नहीं है। श्री पांडे ने कहा कि वे स्वयं अपने वरिष्ठ नेताओं का सम्मान करते हैं और यही अपनी पार्टी के अन्य पदाधिकारियों से अपेक्षा रखते हैं। योगी आदित्यनाथ की जनसभा में वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी के सवाल पर छपी न्यू आॅब्जर्वर पोस्ट की खबर को उन्होंने संजीदगी से लिया और विस्तार से पढ़कर निर्णय लेने के लिये कहा।
इस दौरान न्यू आॅब्जर्वर पोस्ट से बातचीत में महेन्द्रनाथ पांडेय ने कहा कि नगर निगम चुनावों में उम्मीदवार सिफारिश के बल पर नहीं, बल्कि पार्टी और शहर के प्रति प्रतिबद्धता और अच्छे चरित्र के आधार पर चुने जाएंगे। उन्होंने कहा कि निकाय चुनावों को लेकर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं में बहुत उत्साह है और अच्छी तादात में टिकटों के लिये आवेदन आ रहे हैं। वे सभी दावेदारों से मिल रहे हैं और उनकी दलील सुन रहे हैं। लेकिन टिकट उन्हीें को मिलेंगे, जिनकी जनता के बीच अच्छी छवि और सोच होगी। उनका मानना है कि मेयर हो या पार्षद, चुनाव जीतने भर के लिये नहीं, बल्कि जनता के काम करने और जनप्रतिनिधि की जिम्मेदारी निभााने के लिये लड़े जाते हैं। दावेदारों के नाम का चयन इसी कसौटी को ध्यान में रखकर किया जाएगा।
अपनी प्राथमिकताओं के सवाल पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी को अनुशासन की डोर में बांधने के लिये जो बन सकेगा, किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नगर निकाय और इसके बाद अगले लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर ध्यान होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा को गांवों की ओर ले जाने के कार्यक्रम बनाएंगे और सबका साथ सबका विकास के नारे को धरातल पर लाने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने वयोवृद्ध जयप्रकाश त्यागी से कहा कि वे और उनके जैसे सभी बुजुर्ग नेताओं का पार्टी में सम्मान होगा और उनके अनुभवों और सलाहों को अमल में लाया जाएगा। इस दौरान श्री त्यागी के साथ राकेश त्यागी और अक्षय भारद्वाज भी मौजूद थे।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top