0
नई दिल्ली। आईपीएस अधिकारी वाई सी मोदी राष्ट्रीय जांच एजेंसी के अगले महानिदेशक होंगे। मोदी 1984 बैच के असम-मेघालय कैडर के कढर अधिकारी हैं। वाई सी मोदी जल्द ही शरद कुमार के स्थान पर एनआईए के डीजी का पदभार संभालेंगे। आईपीएस वाई सी मोदी मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले हैं। गुजरात दंगों के बाद बनी एसआइटी की जांच में उन्होंने काफी अहम भूमिका निभाई थी।
आईपीएस अधिकारी मोदी फिलहाल सीबीआई मुख्यालय में कार्यरत है और सीबीआई में अतिरिक्त निदेशक के तौर पर काम कर रहे हैं। सीबीआई में नियुक्ति से पहले वाई सी मोदी शिलांग में अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस के तौर पर काम कर रहे थे। गृह मंत्रालय ने वाई सी मोदी को एनआईए का नया महानिदेशक बनाया है। 30 अक्टूबर को वर्तमान महानिदेशक शरद कुमार का कार्यकाल पूरा होने पर वाईसी मोदी एनआईए के नए डीजी का जिम्मा संभालेंगे। जुलाई 2013 में एनआईए महानिदेशक नियुक्त किए गए कुमार का कार्यकाल दो बार बढ़ाया जा चुका है। उनका कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ाया गया था ताकि वह कुछ जरूरी जांचों में एजेंसी की मदद कर सकें। इन जांचों में पठानकोट आतंकी हमला, कश्मीर में आंतकी घटनाएं, बर्दवान विस्फोट मामला और समझौता एक्सप्रेस विस्फोट मामला शामिल है।
राष्ट्रीय जांच एजेंसी के अलावा सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) में भी बड़ा बदलाव हुआ है। रजनीकांत मिश्रा को ररइ का नया महानिदेशक नियुक्त किया गया। डीओपीटी के आदेश में बताया गया है कि मिश्रा अपनी सेवानिवृत्ति की तिथि यानि 31 अगस्त, 2019 तक एसएसबी महानिदेशक का पद संभालेंगे। मिश्रा 1984 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं और वह वर्तमान में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अतिरिक्त महानिदेशक का पद संभाल रहे हैं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top