0

पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच द्विपक्षीय वार्ता

शियामेन। चीन के शियामेन में तीन दिवसीय ब्रिक्स शिखर सम्मेलन संपन्न हुआ। डोकलाम विवाद पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच आज द्विपक्षीय वार्ता हुई। इस मुलाकात में दोनों देशों के बीच बॉर्डर पर शांति बनाए रखने पर सहमति बनी है।

विदेश मंत्रालय ने इसकी पुष्टि की है। दोनों देशों ने इस बात पर भी सहमति बनी कि अगर भविष्य में दोनों देशों के बीच कोई मतभेद होता है तो उसे विवाद न बनने दिया जाए। विदेश मंत्रालय के सचिव एस जयशंकर ने बताया कि दोनों देशों के बीच आतंकवाद को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है।
इस मुलाकात में पीएम मोदी ने ब्रिक्स सम्मेलन के लिए चीन को बधाई दी। उन्होंने कहा कि ब्रिक्स को प्रासंगिक बनाने में यह शिखर सम्मेलन बेहद सफल हुआ है। इससे ब्रिक्स देशों के रिश्ते और मजबूत हुए हैं।
वहीं, चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा कि चीन और भारत प्रमुख पड़ोसी हैं, दोनों विकासशील और उभरते देश हैं। चीन भारत के साथ मिलकर पंचशील के सिद्धांत के तहत काम करने के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग की इस मुलाकात के बाद विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दोनों नेताओं के बीच बातचीत की जानकारी दी।
पीएम मोदी की चीन यात्रा का मंगलवार को आखिरी दिन था। भारत और चीन के बीच में 73 दिनों तक चले डोकलाम विवाद के बाद दोनों नेताओं की ये पहली द्विपक्षीय मुलाकात थी। ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग बड़ी गर्मजोशी से हाथ मिला चुके हैं। गौरतलब है कि डोकलाम में चीन और भारत की सेनाओं के बीच तनातनी की शुरूआत 16 जून को हुई थी। जब भारतीय सेना ने चीन को डोकलाम में सड़क बनाने से रोक दिया था। करीब 73 दिनों तक चले गतिरोध के बाद बीते 28 अगस्त को भारत और चीन ने गतिरोध सुलझाने और डोकलाम से अपनी-अपनी सेनाएं हटाने का एलान किया।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top