0

दोनों पार्टियों की कुल आय 832.42 करोड़

नई दिल्ली। राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे को लेकर हमेशा से ही देश में एक रहस्य का पर्दा छाया रहा है। नए नियम के मुताबिक अब सभी दलों को अपनी आय के स्रोतों की जानकारी देनी है जो  उन्हें बीस हजार से ज्यादा मिला है। इससे कम से मिला चंदे का स्रोत बताने की जरूरत नहीं है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म यानी एडीआर की ओर से जारी आंकड़ों की मानें तो साल 2015-2016 में सबसे ज्यादा आय बीजेपी और उसके बाद कांग्रेस को हुई है। दोनों पार्टियों की कुल आय 832.42 करोड़ रही है।

अगर सभी राष्ट्रीय पार्टियों को मिलने वाले चंदे की बात की जाए तो बीजेपी को 570.86 करोड़ रुपए, कांग्रेस 261.56, सीपीएम, 107.48, बीएसपी 47.385,  एआईटीएसी 34.578,  एनसीपी 9.137, सीपीआई को 2.17 करोड़ रुपए की आय चंदे के माध्यम से हुई है। इसमें से एनसीपी ही एक ऐसी पार्टी है जिसने अपनी आय से ज्यादा खर्च दिखाया है। यह सभी आंकड़े राजनीतिक दलों की ओर से चुनाव आयोग को दिए ब्यौरे मिले हैं। सभी पार्टियों के कुल आय को जोड़ दिया जाए तो यह आंकड़ा 1033.18 करोड़ रुपए पहुंच जाएगा। एडीआर की ओर जारी की गई रिपोर्ट में एक खास बात यह भी सामने आई है बीजेपी और कांग्रेस दोनों की ही पिछली बार की तुलना में कम चंदा मिला है। दरअसल जिस बात की मांग काफी दिनों से की जा रही थी उसी पर 'पर्दा' पड़ा हुआ है। जहां सभी राष्ट्रीय पार्टियों की कुल इनकम 1033.18 करोड़ रुपए है। इन दलों को ज्ञात स्रोत से चंदा जो मिला है वह मात्र 97.27 करोड़ रुपया है। जबकि खाली बीजेपी और कांग्रेस की बात करें दोनों पार्टियों को ज्ञात स्रोत से चंदा 88.33 करोड़ रुपया मिला है। वहीं बीजेपी और कांग्रेस को अज्ञात स्रोत से मिले चंदे की बात करें तो साल 2015-2016 में दोनों को ही 646.82 करोड़ रुपए मिले हैं जो दोनों की कुल आय का 77.70 फीसद है। इसमें बीजेपी को 460.78 करोड़ रुपए और कांग्रेस को 186.04 करोड़ रुपए मिले हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि बीजेपी 76.85 करोड़ रुपया 20 हजार से अधिक चंदे के जरिए मिला है। जिसमें स्रोत की जानकारी दी गई है। वहीं कांग्रेस को 37.22 करोड़ रुपए इस ज्ञात स्रोत के जरिए मिले हैं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top