0

आंदोलन शांत, राजनीति गर्म

नई दिल्ली। बीएचयू में आधी रात को छात्र-छात्राओं पर हुए लाठीचार्ज में कार्रवाई के तहत लंका के एसओ को लाइन हाजिर किया गया है। उनकी जगह जैतपुरा के थानाध्यक्ष संजीव मिश्रा लंका क्षेत्र के नए थानाध्यक्ष बनाए गए हैं। लंका थाना भेलूपुर सर्किल में आता है। भेलूपुर के सर्किल आॅफिसर निवेश कटियार को भी हटा दिया गया है। इतना ही नहीं वाराणसी के अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम सुशील कुमार गोंड का कार्यभार भी बदल दिया गया है।
बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में छात्रों का आंदोलन तो थोड़ा शांत हुआ है लेकिन राजनीति लगातार गर्म हो रही है। वाराणसी से लेकर दिल्ली तक बीएचयू में लड़कियों पर लाठीचार्ज को लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया। दिल्ली में कांग्रेस तो बीएचयू के बाहर एबीपीवी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।
अभी इस मामले में और भी राजनीति होने की संभावना है। समाजवादी पार्टी का 8 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल आज मामले की जांच के लिए बीएचयू आएगा। इससे पहले कल कांग्रेस नेताओं को बीएचयू में घुसने से रोक दिया गया था।
आज भी कांग्रेस नेता इस मुद्दे पर योगी सरकार को घेरने की तैयारी में हैं। कांग्रेस इस मुद्दे पर योगी सरकार से लेकर पीएम मोदी तक निशाना साध रही है। गुलाम नबी आजाद, राजबब्बर और पीएल पुनिया जैसे बड़े नेता वाराणसी में ही मौजूद रहेंगे।
कांग्रेस उपाध्य्क्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का ये भगवा पार्टी का तरीका है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना की जांच के आदेश दिए और रिपोर्ट मांगी है।
बीएचयू के कुलपति गिरीश चंद्र ने हिंसा को बाहरी लोगों की साजिश बताया। उनका कहना है कि इस पूरे आंदोलन में विश्वविद्यालय के छात्रों की सहभागिता बिल्कुल कम थी। ये काम उन लोगों का है जो विश्वविद्यालय की अप्रोच और आॅब्जेक्टिव को पसंद नहीं करते। वीसी ने माना कि 21 सितंबर को एक लड़की के साथ छेड़खानी की घटना हुई और इसकी शिकायत थाने में दर्ज कर ली गई है।
बीएचयू में छात्राओं पर लाठीचार्ज करने के विरोध में छात्र संगठन एनएसयूआई आज मानव संसाधन विकास मंत्रालय का घेराव करेगा। वहीं आम आदमी पार्टी  का छात्र संगठन सीवायएसएस डीयू में आर्ट्स फैकल्टी पर बीएचयू घटना के विरोध में प्रदर्शन करेगा।
हिंसा तब हुई जब गुरुवार को हुई कथित छेड़खानी का विरोध कर रहे कुछ छात्र शनिवार रात विश्वविद्यालय के कुलपति से मिलना चाहते थे। तभी कुलपति के सुरक्षाकर्मी ने एक छात्रा को थप्पड़ मार दिया। छेड़खानी की घटनाओं के विरोध में बीएचयू की छात्राएं प्रदर्शन कर रही थीं। प्रदर्शन कर रही छात्राएं कुलपति से सुरक्षा को लेकर आश्वासन की मांग कर रही हैं।
प्रदर्शनकारी छात्राओं का आरोप है कि कुछ लड़के उनके हॉस्टल की बाहर खड़े रहते हैं। खिड़कियों से पत्थर में लेटर लिखकर भेजते हैं। इतना ही नहीं ये लड़के लड़कियों को गंदे गंदे इशारे भी करते हैं। विरोध करने पर धमकी दी जाती है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top