0
नई दिल्ली।  डेरा सच्चा सौदा के बाबा राम रहीम की हनीप्रीत दिल्ली में है। उसने हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। इसपर सुनवाई हो रही है। हरियाणा पुलिस उसे देश के विभिन्न हिस्सों में ही नहीं, नेपाल तक छान आई मगर उसे तलाश नहीं सकी। उसके बारे में तरह की सूचनाएं हवा में तैरती रहीं। अफवाहें उड़ती रहीं। लेकिन उसे सिर्फ देखने का दावा भर किया जाता रहा। उसे कोई पकड़ नहीं पाया। अब वह देश की राजधानी में मौजूद है। लेकिन दिल्ली में वह कहां छुपी है किसी को नहीं पता। उसे पुलिस, डेरे के गुंडे और बकौल हनीप्रीत ड्रग्स सिंडिकेट के लोग बेताबी से ढूंढ रहे हैं। इन सबके बीच वह वकील से मिल रही है। अग्रिम जमानत याचिका दायर कर रही है। कानून से भागने की जगह अब वह कानून के समक्ष आत्समर्पण करना चाहती है। राम रहीम के मामले की जांच में वह जांच एजेंसिंयों की मदद करने को तैयार है। वह कोर्ट की अनुमति के बिना वह देश के बाहर भी नहीं जाने का वादा कर रही है। उसकी याचिका पर फैसला फिलहाल सुरक्षित रखा गया है। जमानत मिल भी गई तो इतने सारे खतरों के बीच वह खुले में सुरक्षित नहीं रह सकती। अग्रिम जमानत याचिका में उसने हरियाणा-पंजाब के ड्रग्स माफिया से अपनी जान को खतरे का अंदेशा व्यक्त किया है। उसके फरार होने के बाद हरियाणा के डीजीपी ने भी उसकी जान के खतरे की आशंका व्यक्त की थी। सवाल है कि ड्रग्स सिंडिकेट की हनीप्रीत से क्या दुश्मनी हो सकती है? डेरा सच्चा सौदा का ड्रग्स सिंडिकेट से क्या लेना-देना हो सकता है। राम रहीम पर बहुत से आरोप लगे। कई आरोपों की पुष्टि भी हुई लेकिन ड्रग्स सिंडिकेट के साथ संबंधों को कोण पहली बार सामने आया है। जांच एजेंसियों को इस मामले की भी जांच करनी चाहिए ताकि बलात्कारी बाबा के कुकर्मो की पूरी दास्तान लोगों के बीच आ सके। लोग साधु के वेश में छुपे शैतान की पहचान कर सकें।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top