0
अहमदाबाद। गुजरात की धरती पर जापान के पीएम शिंजो आबे ने बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का शिलान्यास करने के बाद कहा कि ऐसा करके उन्हें बेहद खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि इससे भारत और जापान के रिश्ते और मजबूत हुए हैं। इसके साथ ही शिंजो आबे ने कहा कि शाक्तिशाली जापान भारत के पक्ष में है। शिंजो आबे का ऐसा कहना दरअसल चीन के लिए संदेश है। शिंजो आबे ने डोकलाम विवाद पर बिना चीन का नाम लिए निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ताकत से सीमा में बदलाव का हम विरोध करते हैं। शिंजो आबे ने आगे कहा, पीएम मोदी ग्लोबल और दूरदर्शी नेता हैं। उन्होंने कहा कि शक्तिशाली भारत जापान के हित में है और शक्तिशानी जापान भारत के हित में है।
बुलेट ट्रेन को लेकर शिंजो आबे ने कहा कि यह विश्व की सबसे सुरक्षित रेल यात्रा है। जापान में आजतक कोई जानलेवा हादसा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि हम भारत में भी बुलेट ट्रेन यात्रा को सुरक्षित करेंगे। शिंजो आबे ने कहा कि 1964 में जापान में पहली बुलेट ट्रेन आई। उन्होंने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस सपने को साकार करने की प्रतिज्ञा ली है। जापान और भारत के इंजीनियर मिलकर इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। जापान से 100 इंजीनियर भारत आए हैं। आखिर में शिंजो आबे ने कहा कि अगर जापान का जेए और इंडिया का आई मिला दिया जाए तो जय हो जाएगा। खास बात ये है कि शिंजो आबे ने मोदी को अपना डियर फ्रेंड भी करार दिया।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top