0
नई दिल्ली। बाबा बलात्कारी को कोर्ट से भगाने के मामले में पुलिस ने उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है। दोषी करार देने के बाद राम रहीम के गनमैन उसे कोर्ट से भगा ले जाना चाहते थे। इस पूरे मामले की साजिश हनीप्रीत ने रची थी, जिसके चलते पुलिस ने हनीप्रीत के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर दिया है। वहीं हनीप्रीत के विदेश भागने की आशंका के चलते पुलिस ने उसके और डेरे के प्रवक्ता के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया है, ताकि वे कहीं विदेश ना भाग जाए ।

हनीप्रीत के फोन की लास्ट लोकेशन दिल्ली के नजफगढ़ इलाके से मिली है। 27 अगस्त की मॉर्निंग तक हनीप्रीत का फोन यहीं था, लेकिन इसके बाद से यह लगातार स्विच आॅफ है। विभाग के सीनियर इंस्पेक्टर ने बताया कि कल सीआईडी ने हनीप्रीत की लास्ट लोकेशन और उसकी इंक्वायरी को लेकर रिपोर्ट सरकार तक भेजी। इसके बाद लुकआउट नोटिस जारी किया गया है।
अधिकारियों कोे आशंका है कि हनीप्रीत दिल्ली या मुंबई में कहीं है। वह फोन का इस्तेमाल नहीं कर रही हैं, लेकिन उसपर खुफिया विभाग की नजर है। कल रात लुकआउट नोटिस जारी होने के बाद हनीप्रीत के परिजनों को भी पुलिस ने टारगेट पर लिया है। हनीप्रीत की फैमिली के फोन भी जल्द टैप किए जा सकते हैं। इसके अलावा न सिर्फ हनीप्रीत बल्कि डेरा प्रवक्ता आदित्य इंसां की लोकेशन भी एक जैसी बताई जा रही है। इसका मतलब यह निकाला जा रहा है कि हनीप्रीत और आदित्य एकसाथ हैं।
खुफिया विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 26 अगस्त को गुरमीत राम रहीम को शाम 5:30 बजे हेलीकॉप्टर से जब रोहतक जेल लाया गया, तो हनीप्रीत भी उसके साथ थी। रात करीब 9:30 बजे तक हनीप्रीत और गुरमीत गेस्ट हाऊस में रहे। इसके बाद हनीप्रीत को जेल प्रशासन ने अंदर प्रवेश नहीं जाने दिया। रोहतक के एक नामी कारोबारी की गाड़ी में बैठकर हनीप्रीत चिन्मय कॉलोनी गई। वहां रात 2:30 बजे तक हनीप्रीत के फोन की लोकेशन दिखाई पड़ी। इसके बाद हनीप्रीत की लोकेशन 27 अगस्त की सुबह 4 बजे तक रोहतक के आसपास मिली। सुबह 8:30 बजे तक नजफगढ़ में लोकेशन मिली। इसके बाद से फोन बंद है। हनीप्रीत और आदित्य इंसां की फोन लोकेशन भी एक जैसी है।'

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top