0

निर्मला सीतारमन को बड़ी जिम्मेवारी, रक्षामंत्री बनायी गयीं

नई दिल्ली। सत्यपाल सिंह को मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री और जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण राज्य मंत्री बनाया गया। गिरिराज सिंह को पदोन्नति देते हुए लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया। अनंत कुमार हेगड़े को कौशल विकास राज्य मंत्री बनाया गया। शिव प्रताप शुक्ला को वित्त राज्य मंत्री, अश्विनी चौबे को स्वास्थ्य राज्य मंत्री तथा वीरेन्द्र कुमार को महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री बनाया गया। हरदीप पुरी को आवास एवं शहरी विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया जबकि के जे अलफोंस को पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं राज्य मंत्री इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री बनाया गया।
राज्यवर्द्धन सिंह राठौर को पदोन्नति देते हुए युवा एवं खेल मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया। वे सूचना प्रसारण मंत्रालय में राज्य मंत्री भी बने रहेंगे।
धर्मेन्द्र प्रधान को पेट्रोलियम मंत्रालय के अलावा कौशल विकास मंत्रालय का प्रभार दिया गया।
महेश शर्मा पर्यावरण मंत्री बनाये गये हैं। उनसे टूरिज्म मंत्रालय ले लिया गया है। संस्कृति मंत्रालय उनके पास रहेगा। यानी कुल मिला कर महेश शर्मा का कद बढ़ा है।
आज शपथ लेने वाले हरदीप सिंह पुरी को राज्य मंत्री के रूप में शहरी विकास मंत्रालय भेजा गया है। अल्फांस को पर्यटन मंत्री बनाया गया है। शिव प्रताप शुक्ल को वित्त राज्य मंत्री बनाया गया है।
सत्यपाल सिंह शिक्षा राज्य मंत्री होंगे। मुख्तार अब्बास नकवी अल्पसंख्या मामलों के मंत्री ही रहेंगे, अब उनका रैंक कैबिनेट के दर्जे का होगा।
आरके सिंह स्वतंत्र प्रभार के ऊर्जा मंत्री होंगे। वहीं, स्मृति ईरानी पूर्ण रूप से सूचना एवं प्रसारण मंत्री होंगी। कपड़ा मंत्रालय भी स्मृति के पास रहेगा।
नितिन गडकरी को जल संसाधन मंत्रालय की जिम्मेवारी दी गयी है।
उमा भारती को पेजयल एवं स्वच्छता विभाग दिया गया है।
सुरेश प्रभु वाणिज्य मंत्री बनाये गये हैं।
निर्मला सीतारमन देश की नयी रक्षा मंत्री बनायी गयी हैं। निर्मला सीतारमन का संबंध तमिलनाडु व कर्नाटक से है। निर्मला सीतारमण इंदिरा गांधी के बाद देश की दूसरी महिला रखा मंत्री बनी हैं।
महीने भर से चल रहे कयासों  के बाद आखिरकार मोदी कैबिनेट का विस्तार हो ही गया। आज शपथ ग्रहण समारोह में सभी नौ नये चेहरों ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वहीं चार पुराने मंत्रियों को प्रमोशन देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। इस बीच सुरेश प्रभु ने रेल मंत्रालय छोड़ दिया है। उनके जगह पीयूष गोयल को रेल मंत्री बनाया जायेगा। रेल मंत्रालय छोड़े जाने की जानकारी प्रभु ने ट्वीट कर दी। सुरेश प्रभु ने कहा रेलवे के 13 लाख कर्मचारियों को समर्थन, प्रेम के लिए धन्यवाद। मैंने इसके हर पल को जीया है।
 प्रमोशन पाने वालों में वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमन, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान व उर्जा मंत्री पीयूष गोयल को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री इन चारों मंत्रियों के कामकाज से खुश है।
 उधर पिछले कई सालों से ऊर्जा मंत्रालय का कामकाज संभाल रहे पीयूष गोयल ने कई कोल आॅक्शन कर बेहद चुनौती पूर्ण काम को समयबद्ध तरीके से निपटाया और बिजली सुधार में मामले में कई काम किये। समझा जा रहा है कि प्रधानमंत्री उनके कामकाज से खुश हैं और इसलिए उन्हें यह जिम्मेदारी दी जा रही है।
विदेश सेवा में चालीस साल काम करने का अनुभव रखने वाले हरदीप सिंह ने भी राज्य मंत्री की शपथ ली। बिहार के आर के सिंह व आश्विनी चौबे, यूपी से पुलिस के पूर्व प्रमुख सत्यपाल सिंह, सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी अल्फोंस कन्नाथनम ,वीरेंद्र कुमार (मध्यप्रदेश) और शिव प्रताप शुक्ला (उत्तरप्रदेश),राज कुमार सिंह (पूर्व आइएएस) ,गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी शपथ लिया।
 भरोसा नहीं था कि मुझे मंत्री बनाया जायेगा :अल्फोंस कन्नाथनम
शपथ ग्रहण से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नये मंत्रियों के आवास पर चाय के लिए बुलाया और अपने न्यू इंडिया के विजन से अवगत करवाया। उधर मंत्री पद की शपथ लेने आये आर के सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मेरे क्षमता पर भरोसा जताया है। मैं इस बात के लिए आभार प्रकट करता हूं। सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी व दिल्ली में 15000 अवैध मकान को हटाकर सुर्खियों में आये अल्फोंस कन्नाथनम ने शपथ ग्रहण से पूर्व मीडिया को बताया कि मुझे मंत्री बनने को लेकर भरोसा नहीं था। प्रधानमंत्री ने मुझे मंत्री बनाकर चकित कर दिया। विदेश सेवा में काम कर चुके हरदीप पुरी ने पार्टी के प्रति आभार जताया। गौरतलब है कि हरदीप पुरी को भाजपा में शामिल हुए ज्यादा दिन नहीं हुए थे। 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top