0

मेक्सिको सिटी। मेक्सिको में कल देर रात भूकंप के जबरदस्त झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर 7.1 तीव्रता वाले इस विनाशकारी भूकंप में कम से कम 226 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों इमारतें ढह गईं।  इस भूकंप के कारण मेक्सिको सिटी, मोरलियोस और पुएब्ला प्रांतों में भारी तबाही मची है। मेक्सिको के राष्ट्रपति एनरिक पेना नीतो ने बताया कि कोआपा के पास एक स्कूल में 20 से अधिक बच्चे और दो वयस्कों की मलबे में दबकर मौत हो गई है। इसके अलावा 30 बच्चे और 12 वयस्क लापता हैं। प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कर्मियों को भेज दिया गया है और उनका अभियान रात भर जारी रहा। कई लोगों को मलबे से जीवित भी निकाला गया है।
मेक्सिको सिटी के मेयर ने कहा कि भूकंप के कारण शहर में 44 इमारतें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गईं जिनमें एक प्राइमरी स्कूल भी शामिल है और कई मकान जमींदोज हो गये। इससे दो सप्ताह पहले भी मेक्सिको में भीषण भूकंप आया था जिससे कम से कम 98 लोगों की मौत हो गई थी और संपत्ति का भी भारी नुकसान हुआ था। गृह मंत्री मिग्यूल एंजल ओसोरियो चोंग ने स्थानीय टेलीविजन पर बताया कि राहतकर्मी मलबों में जीवित बचे लोगों को तलाश रहे हैं। उन्होंने कहा, हमें ऐसी जानकारियां मिली हैं कि अभी भी कुछ लोग इमारतों में फंसे हुए हैं और वे बाहर निकलने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। अगर जरुरत पड़ी तो हम और कर्मचारियों को राहत एवं बचाव अभियान में लगाएंगे।
अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण विभाग ने कहा है कि भूकंप का केंद्र मेक्सिको सिटी से 120 किलोमीटर दूर पुएब्ला प्रांत के एटेंसिगो के करीब था और यह 51 किलोमीटर की गहराई में स्थित था। मोरलियोस राज्य में 55 लोग मारे गए हैं और पुएब्लो में 29 लोगों के मारे जाने की खबर है। इसके अलावा दक्षिणी मेक्सिको सिटी में 65 और मेक्सिको सिटी में कम से कम 117 लोग मारे गए हैं। मेक्सिको सिटी में स्कूल, कार्यालय और बाजार बंद कर दिए गए हैं। उधर संयुक्त राष्ट्र ने इस तबाही पर शोक प्रकट करते हुए कहा है कि वह मेक्सिको की किसी भी तरह की सहायता के लिए तैयार है। सैंकड़ों बचावकर्मी अभी भी राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं।
पुएब्ला के गवर्नर जोस एंटोनियों ने बताया कि भूकंप के दौरान मेक्सिको के पोपोकाटेपेटल ज्वालामुखी में विस्फोट के कारण एक चर्च गिर गया जिसके कारण 15 लोगों की मौत हो गई। मेक्सिको में 32 साल पहले 1985 में ठीक इसी तारीख को एक विनाशकारी भूकंप आया था जिसमें लगभग 10000 लोग मारे गए थे।
मेक्सिको के राष्ट्रपति ने लोगों से अपील की है कि वे सड़कों पर न रुकें ताकि इमरजेंसी सेवाएं आसानी से प्रभावित क्षेत्रों में पहुंच सकें। राजधानी मेक्सिको सिटी के कई इलाकों में फोन सेवाएं बाधित हैं और करीब 40 लाख लोग नहीं होने के कारण अंधेरे में हैं। अमेरिका नेअपने पड़ोसी देश मेक्सिको की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है। अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता हीथर नॉअर्ट ने कहा, हम भूकंप में अपने परिजनों को खो चुके लोगों के प्रति संवदेना व्यक्ति करते हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं। हमारी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं मेक्सिको के लोगों के साथ हैं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top