0

48 घंटे तक न डेरे में दाखिल होंगे, न किसी को बाहर आने देंगे

पंचकूला। सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के हेडक्वार्टर को लेकर आर्मी ने अपने प्लान में बदलाव किया है। आर्मी ने तय किया है कि अब डेरा के हेडक्वार्टर से किसी भी समर्थक को बाहर नहीं आने दिया जाएगा। साथ ही अगले 48 घंटे तक आर्मी भी डेरा हेडक्वार्टर में नहीं दाखिल होगी। सेना से जुड़े सूत्रों ने  बताया कि डेरा से बाहर निकल रहे लोगों से एक बार फिर से उपद्रव होने की आशंका है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्लान में बदलाव किया गया है।
सेना के सूत्रों ने बताया कि शनिवार और रविवार को कई लोग डेरा से बाहर आ रहे थे। वे जानबूझकर गांव की ओर खुलने वाले दरवाजे से बाहर निकल रहे हैं। इसी दौरान पकड़े गए दो डेरा समर्थकों के पास से एके 47 जैसे हथियार मिले हैं। इसके अलावा उनके पास से पिस्तौल और विस्फोटक भी बरामद हुए हैं। आर्मी को आशंका है कि डेरा के अंदर भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियार मौजूद हैं। डेरा समर्थक उन्हें बाहर निकालना चाहते हैं, ताकि सोमवार को गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद जिले में एक बार फिर से उपद्रव को अंजाम दे सकें। आर्मी ने एहतियातन डेरा से सटे गांव को भी सील करना शुरू कर दिया है। आशंका है कि कई डेरा समर्थक इन्हीं गांवों में छुपे हुए हैं। वे अगर रविवार रात तक वहां से बाहर निकल जाते हैं तो वे सोमवार को उपद्रव कर सकते हैं। आर्मी ने ये भी तय किया है कि वे डेरा हेडक्वार्टर के अंदर अगले 48 घंटे दाखिल नहीं होंगे। उन्हें आशंका है कि अगर वे राम रहीम को सजा सुनाए जाने से पहले डेरा में घुसते हैं तो समर्थक औरतों और बच्चों की ढाल बनाकर उन्हें रोक देंगे। इसी बीच उन्हें बाहर आने और उपद्रव करने का मौका मिल जाएगा।
सेना के नए प्लान के मुताबिक गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद तक उसके समर्थकों को डेरा के अंदर ही रखा जाएगा। मामला थोड़ा शांत होने पर वे डेरा के अंदर दाखिल होंगे। मालूम हो साध्वी से रेप के 15 साल पुराने मामले में शुक्रवार का पंचकूला की सीबीआई अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराया गया था। उसी दिन उसे रोहतक की जेल में भेज दिया गया था। सोमवार हो जेल में ही उसे सजा सुनाई जाएगी। दोषी ठहराए जाने के बाद राम रहीम के समर्थकों ने सिरसा, पंचकूला सहित सहित कई जगहों पर उत्पात और हिंसा की थी, जिसमें 36 लोगों की मौत हो गई थी।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top