0

क्रास वोटिंग पर कांग्रेस की कड़ी कार्रवाई 

ग्नई दिल्ली। कांग्रेस ने क्रास वोटिंग पर कड़ी कार्रवाई की है।  गुजरात के वरिष्ठ नेता शंकर सिंह वाघेला सहित राज्यसभा चुनाव में क्रास वोटिंग के आरोपी आठ विधायकों को पार्टी से निकाल दिया है.
गुजरात राज्यसभा चुनाव में मंगलवार को क्रॉस वोटिंग को लेकर हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ था. कांग्रेस की शिकायत पर चुनाव आयोग ने दो विधायकों के वोट रद्द किए. कांग्रेस का आरोप था कि इन दो भोला भाई और राघव भाई ने बैलेट पेपर बीजेपी के एजेंट को दिखाया. मंगलवार देर रात 12 बजे चुनाव आयोग ने दोनों विधायकों के वोट रद्द करके वोटो की गिनती करने के आदेश दिए थे. अब कांग्रेस ने इस पूरे मामले में एक्शन लेते हुए आठ विधायकों को 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया है.

उल्लेख्य है कि गुजरात राज्यसभा चुनाव में 44 वोटों के साथ अहमद पटेल की जीत हुई है. इस जीत के पीछे दो वोटों का रद्द होना बड़ी वजह मानी जा रही है. अहमद पटेल मात्र आधे वोटों के अंतर से जीते हैं. कांग्रेस के बागी विधायक भोला भाई और राघव भाई के वोट रद्द होने के बाद जीत के लिए जरूरी आंकड़े में बदलाव हो गया. अब जीत के लिए 43.5 वोट चाहिए थे. जबकि, अहमद पटेल को 44 वोट मिले और वह 0.50 वोट से जीत गए. अहमद पटेल को जो 44 वोट मिले, उनमें कांग्रेस के 41, जेडीयू का एक, एनसीपी का एक और बीजेपी के बागी विधायक का एक वोट शामिल था.गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों में से बीजेपी ने दो सीटों अपना कब्जा जमाया. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पहली बार राज्यसभा जाएंगे. दूसरी सीट पर स्मृति ईरानी ने भी अपनी जगह बरकरार रखी है. इस चुनाव में शाह और ईरानी को 46-46 वोट मिले. वहीं, अहमद पटेल को 44 वोट मिले जबकि कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए बलवंत सिंह राजपूत को 38 वोटों से संतोष करना पड़ा. इसके बाद कांग्रेस का अंतर्कलह सतह पर आ गया था।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top