0

कैफियत एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतरे,74 घायल
औरैया के पास मानवरहित फाटक पर हुई दुर्घटना

नई दिल्ली। एक सप्ताह के भीतर एक और ट्रेन हादसा हो गया। इसने रेल महकमे को झकझोर कर रख दिया है। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने इसकी जिम्मेवारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की लेकिन पीएम मोदी ने उन्हें अभी इंतजार करने को कहा है। इस बार आजमगढ़ से दिल्ली आ रही 12225 (अप) कैफियत एक्सप्रेस औरैया के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई है। मानव रहित फाटक पर फंसे एक डंपर में ट्रेन के टकराने से 12 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस हादसे में 74 लोग घायल हुए हैं, जिसमें से 4 की हालत गंभीर बनी हुई है। हादसा मंगलवार रात 2:50 बजे हुआ। हादसा अछल्दा और पाता रेलवे स्टेशन के बीच रात 2 बजकर 50 मिनट पर हुआ। हादसे के बाद रेलवे के कई बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। फिलहाल राहत और बचाव का काम पूरा हो गया है। दिल्ली हावड़ा रेल मार्ग पर औरैया जिले के अछल्दा ओर पाता रेलवे स्टेशन के बीच कैफियत एक्सप्रेस डंपर से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। ईंजन समेत समेत 12 डिब्बे पटरी से उतर गए।रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक यह हादया कानपुर और इटावा के बीच में पाता और अछल्दा के बीच में  गेट नंबर  14  को पार करने के दौरान हुआ। दरअसल, मानव रहित क्रॉसिंग पर डंपर पहले से फंसा हुआ था, लेकिन ट्रेन के चालक को इस बात की जानकारी मुहैया नहीं कराई गई थी। रेलवे के पीआरओ अनिल सक्सेना ने कहा कि डंपर से टकराने के चलते कैफियत एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हुई। कुछ लोग घायल हुए हैं, लेकिन किसी की मौत नहीं हुई है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर बताया कि वे हालात पर खुद नजर बनाए हुए हैं। कुछ यात्रियों को चोटें लगी हैं। अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं। मालूम हो कि पिछले शनिवार को मुजफ्फरनगर में उत्कल एक्सप्रेस के पटरी से उतरने के चलते 22 लोगों की मौत हो गई थी और 156 लोग घायल हो गए थे।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top