0
गांधीनगर। गुजरात में क्रॉस वोटिंग के लिए कांग्रेस से निलंबित 8 में से 7 विधायकों का विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया जिसे स्वीकार कर लिया गया। त्यागपत्र देने वालों में पूर्व मख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला को छोड़ कर उनके विधायक पुत्र महेन्द्र सिंह वाघेला समेत अन्य 6 समर्थक तथा पार्टी की ओर से तोडफोड़ की डर से बेंगलुरू भेजे गये 44 विधायकों में शामिल होने के बावजूद क्रॉस वोटिंग कर पार्टी को चौंकाने वाले करम सिंह पटेल शामिल हैं। गत 27 जुलाई से अब तक कुल 13 पार्टी विधायक सदन की सदस्यता छोड़ चुके हैं। 21 जुलाई को अपने 77 वें जन्मदिन पर ही पार्टी छोड़ने की घोषणा करने वाले शंकरसिंह वाघेला ने हालांकि अभी सदन की सदस्यता से त्यागपत्र नहीं दिया है।

विधानसभा अध्यक्ष रमनलाल वोरा ने बताया कि महेन्द्र सिंह वाघेला, करम सिंह पटेल, सी के राउल जी, धर्मेन्द्र जाडेजा, अमित चौधरी तथा राघवजी पटेल और भोला गोहिल ने कल रात लगभग साढ़े 9 बजे उनके आवास पर उन्हें त्यागपत्र सौंपे थे जिन्हें आज स्वीकार कर लिया गया। उल्लेख्य है कि राघवजी पटेल और भोला गोहिल के मत चुनाव आयोग ने कथित तौर पर भाजपा प्रत्याशियों को दिखाने के चलते रद्द कर दिये थे। ज्ञातव्य है कि इससे पहले 27 और 28 जुलाई को भी कुल 6 कांग्रेस विधायकों ने सदन से इस्तीफा दिया था। इनमें से 3 उसी दिन भाजपा में शामिल हो गये थे। आज जिन विधायकों का इस्तीफा स्वीकार हुआ है उन्होंने भी जल्द ही भाजपा में शामिल होने की बात कही है। गुजरात में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। 7 और इस्तीफों के साथ 182 सदस्यीय विधानसभा की वास्तविक सदस्य संख्या अब घट कर 169 हो गई है। 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top