0
भोपाल। अपने तीन दिनों के मध्य प्रदेश दौरे के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने साफ कर दिया कि विधानसभा चुनाव शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा के यहां लंच करने पहुंचे अमित शाह ने मीडिया से अनौपचारिक चर्चा में कहा कि अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस दो सीट भी नहीं ला पाएगी।
वहीं, नोटबंदी और जीएसटी से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए कहा कि सरकार केवल लोकप्रियता के लिए निर्णय नहीं ले सकती। देशहित के लिए कभी-कभी कड़ा कदम भी उठाना पड़ता है। मिशन 2019 के तहत देश के हर राज्य का दौरा कर रहे शाह तीन दिवसीय दौरे पर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल पहुंचे। यहां स्वागत और भाषण में काफी विलंब होने की वजह से अमित शाह खासे नाराज हो गए। समय के मामले में पाबंद माने जाने वाले अमित शाह की पहली बैठक डेढ़ घंटे देरी से शुरू हुई। शाह को यह सब नागवार गुजरा और उन्होंने साफ कर दिया किया वे मध्य प्रदेश में स्वागत कराने और भाषण सुनने नहीं आए हैं।सूत्रों के मुताबिक, बैठक में भी स्वागत भाषण को लेकर अमित शाह काफी नाराज हो गए। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान को टोका और कहा कि ज्यादा भूमिका मत बनाइए। इसके बाद तुरंत बैठक शुरू हो गई।


Post a Comment Blogger Disqus

 
Top