0

जनजीवन ठप्प, अगले 24 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी

मुंबई। सोमवार शाम से मूसलाधार बारिश के कारण मंगलवार को मुंबई का जनजीवन ठहर सा गया है। मंगलवार को हुई बारिश से सड़कें समंदर बन गईं। रेल और हवाई यातायात भी बाधित हो गया। तेज हवा के कारण दर्जनों पेड़ गिर गए हैं। मौसम विभाग ने भारी बारिश अगले 24 घंटे तक जारी रहने की चेतावनी दी है। बुधवार को स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे, जबकि शेयर बाजार खुले रहेंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील की है।

कुछ रूटों पर ट्रेनें सामान्य रूप से चलने लगी हैं हालांकि, मौसम विभाग ने अगले 24 से 48 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। अंधेरी से घाटकोपर के बीच मेट्रो रेल सेवा सामान्य रूप से चल रही है। कुर्ला से डोंबिवली की ओर सेन्ट्रल रेलवे की सेवाएं शुरू हो चुकी हैं। भारतीय नौसेना ने सीएसटी स्टेशन पर फंसे लोगों के लिए सुबह नाश्ते का इंतजाम किया गया था। जो लोग बारिश के कारण रात को आॅफिस में ही रुक गए थे, वे सुबह घर जाने के लिए निकले हैं, लेकिन स्थिति अभी भी खराब है। मुंबई की वेस्टर्न लाइन पर लोकल रेल सेवाएं शुरू हो गईं हैं। बारिश के कारण आज मुंबई के डब्बावाला काम नहीं कर सकेंगे क्योंकि कल डिलिवर किए हुए लंच बॉक्स वे अभी तक वापस नहीं ले सके हैं।
मंगलवार को मुंबईवासियों को 26 जुलाई, 2005 की याद आ गई, जब 24 घंटे में 944 मिमी. बरसात हुई थी और सैकड़ों लोग मारे गए थे। लोगों को हालात फिर कुछ वैसे ही बनते दिखाई दिए। शाम तक के आंकड़ों के मुताबिक 298 मिलीमीटर बारिश हो चुकी थी। भारी बारिश के कारण कार्यालयों में जल्दी छुट्टी घोषित कर दी गई थी, लेकिन लोगों को घर तक पहुंचना मुश्किल हो गया। मुंबई की जीवनरेखा कही जानेवाली लोकल ट्रेनें या तो ठप हो गईं या बहुत धीमी गति से चलीं। परेल, दादर, सायन, बांद्रा, अंधेरी के निचले इलाकों में पानी भर जाने से सड़क मार्ग भी प्रभावित हुआ। इससे पहले मंगलवार को मुंबई में इस मूसलाधार बारिस की वजह से मुंबई के उपनगर विक्रोली में दो घरों के ढहने से दो बच्चों सहित तीन लोगों की मंगलवार को मौत हो गई।
आॅटो और टैक्सी चालकों ने जलभराव में फंस जाने के डर से अपनी सेवाएं बंद कर दींं। ज्यादा जलभराव वाले स्थानों पर बेस्ट की बसें भी जानी बंद हो गईं। बांद्रा-वरली सी लिंक को तेज हवाओं एवं दृश्यता कम होने से कुछ समय के लिए बंद कर दिया गया था। परेल स्थित केईम अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर पर पानी भरने के बाद करीब 30 मरीजों को अस्पताल की दूसरी मंजिल पर शिफ्ट किया गया।
मध्य रेलवे के सायन जैसे स्टेशनों की रेल पटरियों पर प्लेटफार्म के बराबर पानी भर गया। इसी प्रकार पश्चिम रेलवे रूट पर भी कई स्थानों पर पटरी डूब गए हैं। इससे लोकल और लंबी दूरी की रेल सेवाएं स्थगित करनी पड़ीं। हालांकि ट्रांसहार्बर रेल सेवा रात में शुरू हो गई। रनवे पर जलभराव और तेज हवाओं के कारण विमान सेवाएं भी प्रभावित हुईं। छह उड़ानें रद की गईं और 10 उड़ानें अन्य जगहों की ओर भेज दी गईं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस से फोन पर बात कर उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। भारी बारिश के कारण महानगर की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए फडनवीस ने शाम को स्वयं आपदा प्रबंधन केंद्र जाकर स्थिति का जायजा लिया और आवश्यक निर्देश जारी किया। मुख्यमंत्री ने लोगों को अत्यावश्यक काम न होने तक बुधवार को घर से बाहर न निकलने की सलाह दी है। नौसेना ने किसी भी आपात स्थिति से निपटने के अपने हेलीकॉप्टर और गोताखोर तैयार रखे हैं। इस बीच एनडीआरएफ की दो टुकडि?ों को मुंबई रवाना कर दिया गया है।
मुंबई में इन दिनों गणेशोत्सव चल रहा है। जगह-जगह सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों की स्थापना की गई है। बारिश में फंसे लोगों को राहत देने के लिए ऐसे कुछ मंडलों ने अपने दरवाजे खोल दिए हैं। उन्होंने दादर, परेल, सायन आदि स्टेशनों के बीच फंसे लोगों को अपने मंडल में भोजन और ठहरने की पेशकश की है। शहर के कुछ धार्मिक स्थलों की तरफ से भी ऐसे प्रस्ताव आए हैं। नवी मुंबई पुलिस ने मॉल प्रबंधकों से बारिश में फंसे लोगों को शरण देने की अपील की है।
मुंबई और आसपास के इलाकों में पिछले तीन दिन से हो रही भारी बारिश को देखते हुए मुंबई और ठाणे में भूस्खलन को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। पुणे स्थित सेंटर फॉर सिटिजन साइंस (सीसीएस) ने भूस्खलन को लेकर चेतावनी जारी की है। इसके अनुसार, अनूप हिल, घाटकोपर (पश्चिम), कल्याण (पूर्व), विरार, जिबर्ट हिल, चेंबूर, पंजारपोल, नकाडीपाड़ा, बांदी और ठाणे एवं मुलुंड इलाके में भूस्खलन हो सकता है।
सीसीएस के सचिव मयूरेश प्रभुने ने बताया कि भारी बारिश के चलते भूस्खलन संभावित इलाके के लिए यह चेतावनी जारी की गई है। पुणे-मुंबई एक्सप्रेसवे बंदइस बीच मुंबई में हालात सुधरने तक पुणे और गोवा से आने वाले वाहनों को रोक दिया गया है। पुलिस अधीक्षक (हाईवे) ने बताया कि सुबह 6.30 बजे से पुणे-मुंबई एक्सप्रेसवे को बंद कर दिया गया। मुख्यमंत्री ने स्थिति सामान्य होने तक शहर में सभी प्रवेश केंद्रों पर वाहनों से टोल नहीं लेने का आदेश दिया है।

हेल्पलाइन नंबर
सेंट्रल रेलवे कंट्रोल रूम- 022-22620173
वेस्टर्न रेलवे कंट्रोल रूम- 022-23094064
बीएमसी- 1916
व्हाट्सएप ट्रैफिक अपडेट-8454999999

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top