0

वैन से कुचलकर 13 की मौत, 100 से ज्यादा घायल                                                                 आइएसआइएस ने ली जिम्मेदारी, स्पेन में वाहन हमले की पहली घटना

बार्सिलोना। स्पेन के दूसरे सबसे बड़े शहर बार्सिलोना में आइएस का बड़ा आतंकी हमला हुआ है। इसमें अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 100 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं। इस हमले की चपेट में 18 देशों के नागरिक आए, लेकिन उनमें कोई भारतीय शामिल नहीं है। जर्मनी, रोमानिया, इटली, अल्जीरिया और चीन जैसे देश के लोग मारे गए हैं।
इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आइएसआइएस ने ली है। पुलिस ने पांच संदिग्ध आतकियों में भी मार गिराया है। हाल में यूरोप के कई देशों में वाहन को भीड़ में घुसा कर हमले की कई घटनाएं हुई हैं। इस तरह के हमले से स्पेन बचा हुआ था। निकटवर्ती फ्रांस, बेल्जियम और जर्मनी में इस तरह की घटनाएं हो चुकी है।
इस हमले के करीब आठ घंटे बाद बार्सिलोना से 120 किमी दक्षिण में कैंब्रिल्स शहर में एक आॅडी ए3 ने राह चलते लोगों को कुचल दिया, जिसमें एक पुलिस कर्मी सहित सात लोग घायल हो गए। इनमें से एक की हालत गंभीर है। कातालोनिया एक स्पेनिश क्षेत्र है, जहां दोनों शहर स्थित हैं। हमले के बाद हमलावरों और पुलिस के बीच गोलीबारी हुई जिसमें पांचों हमलावर मारे गए। उनमें से कुछ ने विस्फोट बेल्ट पहनी थी।
हमले के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि बार्सिलोना आतंकवादी हमले में किसी भी भारतीय के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। स्वराज ने कहा कि वह स्पेन स्थित भारतीय दूतावास के लगातार संपर्क में हैं।
प्रसिद्ध लास रमब्लास बर्सिलोना की व्यस्त जगह है। यहां पर दुकानों और रेस्तरां की भरमार है, जहां पर्यटकों का जमघट लगा रहता है और देर रात तक विभिन्न कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं।
स्पेन के शाही परिवार ने घटना की निंदा की है और कहा है कि उनका देश अतिवादियों के आतंक के सामने नहीं झुकेगा। घटना के चश्मदीदों ने बताया कि एक के ऊपर एक लोग गिरने लगे और दूसरे लोग अपनी जान बचाकर भागने लगे।
स्थानीय दुकान में काम करने वाले शावी परेज ने कहा, जब यह हुआ मैं भागने लगा और वहां काफी नुकसान हुआ। उन्होंने कहा, फर्श पर लोगों के शव थे जिसके बगल में लोग शोर मचा रहे थे। लोग जोर-जोर से पुकार रहे थे। वहां काफी विदेशी थे।
चश्मदीद आमेर अनवर ने कहा कि वह लास रमब्लास की ओर जा रहे थे जहां पर्यटकों का तांता लगा हुआ था। उन्होंने कहा, यह सब अचानक हुआ। मैंने जोर से कुचलने की आवाज सुनी और सड़क से लोगों को इधर-उधर भागते हुए देखा। मैंने बगल में एक महिला को अपने बच्चों के साथ मदद के लिए पुकारते देखा।
चैरिटी डायरेक्टर एथन स्पीबे ने कहा घटना के बाद उन्होंने और कई अन्य लोगों ने खुद को निकट के एक गिरजाघर में बंद कर लिया। उन्होंने कहा, अचानक यह सब ऐसे हुआ कि अफरातफरी मच गयी। लोग दहशत में भागने लगे। एक तरह से भगदड़ सी मच गयी थी।
स्थानीय निवासी टॉम गुलेर ने कहा कि उन्होंने बौलेवर्ड से लगी सड़क पर तेज गति से एक वाहन को जाते हुए देखा। उन्होंने कहा, यह बिल्कुल नहीं रुका। यह सीधे रमब्लास के मध्य में भीड़ की ओर जा रहा था।
हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया, अमेरिका स्पेन के बार्सिलोना में आतंकी हमले की निंदा करता है और हम हरसंभव सहायता करेंगे। फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुएल मैक्रोन ने कहा कि उनकी संवेदनाएं त्रासद हमले के पीड़ितों के प्रति है। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने हमले की निंदा की। ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने ट्विटर पर कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लंदन स्पेन के साथ है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top