0
नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर गुजरात दौरे के दौरान पथराव का मुद्दा आज लोकसभा में उठा और कांग्रेस सदस्यों ने इस घटना को लेकर कड़ा विरोध जताया। इसके कारण सदन की कार्यवाही बाधित हुई और एक बार के स्थगन के बाद दोपहर करीब सवा 12 बजे सदन को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया। इस मामले पर हंगामे के कारण लोकसभा में कोई विधायी कामकाज नहीं हो सका।
सुबह सदन की बैठक शुरू होते ही कांग्रेस सदस्य अध्यक्ष के आसन के समक्ष आ गए। पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इस हमले में कांग्रेस उपाध्यक्ष की जान तक जा सकती थी।
सरकार ने इस मुद्दे का करारा जवाब दिया। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राहुल गांधी इस देश की अनमोल धरोहर हैं और इस घटना को किसी प्रकार से उचित नहीं ठहराया जा सकता है लेकिन देश जानना चाहता है कि छह मौकों पर 72 दिन विदेश में रहने के दौरान उन्होंने एसपीजी सुरक्षा क्यों नहीं ली?
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष छह मौकों पर 72 दिन विदेश में रहे और इस दौरान उन्होंने एसपीजी सुरक्षा नहीं ली तथा कानून का उल्लंन कर स्वयं की सुरक्षा को खतरे में डाला। देश जानना चाहता है कि राहुल गांधी विदेश यात्रा के बारे में क्या छिपाना चाहते हैं?
उनके इस जवाब के साथ ही कांग्रेस सदस्यों का हंगामा और जोर पकड़ गया और अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को करीब साढ़े 11 बजे सदन की कार्यवाही आधे घंटे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी। हंगामे के चलते आज सदन में प्रश्नकाल भी नहीं हो सका।
सदन की बैठक 12 बजे फिर शुरू होने पर भी कांग्रेस की नारेबाजी और हंगामे में कोई कमी नहीं आयी। हालांकि अध्यक्ष ने इसी हंगामे के बीच सदन का कामकाज जारी रखा। कांग्रेस नेता खड़गे ने आरोप लगाया कि राजनाथ सिंह ने सदन को गुमराह करने वाला बयान दिया है। उनकी इस बात का संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने कड़ा विरोध किया और कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी देश को गुमराह कर रहे हैं ।
अनंत कुमार ने कहा कि कांग्रेस बताए कि राहुल गांधी कहां कहां जा रहे हैं और वह एसपीजी सुरक्षा कवर क्यों नहीं ले रहे हैं। एसपीजी सुरक्षा पर सरकार इतना खर्च करती है और सरकार उन्हें पूरी सुरक्षा दे रही है। इसके बावजूद वह एसपीजी सुरक्षा कवर क्यों नहीं ले रहे हैं? उन्होंने कहा कि जब राहुल गांधी विदेश यात्रा पर जाते हैं तो एसपीजी सुरक्षा कवर क्यों नहीं लेते।
कांग्रेस सदस्य इस मुद्दे को लेकर फिर से आसन के समक्ष आकर पोस्टर दिखाने लगे। तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय ने इसी बीच कहा कि राहुल गांधी पर हमला बेहद निंदनीय और गरिमा के खिलाफ है और साथ ही यह समाज में बढ़ती असहिष्णुता का भी परिचायक है। उन्होंने मांग की कि सदन को इस घटना की निंदा करनी चाहिए और उन्हें पयार्प्त सुरक्षा मुहैया कराई जाए। उन्होंने हालांकि इस बात से सहमति जतायी कि कांग्रेस नेता को एसपीजी सुरक्षा कवर लेना चाहिए।
इसके बाद तणमूल कांग्रेस पार्टी के सदस्य भी आसन के समक्ष नारेबाजी कर रहे कांग्रेस सदस्यों के साथ शामिल होकर नारेबाजी करने लगे। अध्यक्ष ने इसके बाद शून्यकाल शुरू करवाया लेकिन हंगामा बढ़ता देख उन्होंने कुछ ही देर बाद सदन की बैठक दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top