0
कराची। पाकिस्तान के क्वेटा में शनिवार को सिक्युरिटी फोर्स की एक गाड़ी को निशाना बनाकर ब्लास्ट किया गया, जिसमें सेना के 8 जवानों समेत 17 लोगों की मौत हो गई। 30 से ज्यादा घायल हो गए। इनमें 10 जवान शामिल हैं। शनिवार देर रात यह विस्फोट पिशिन बस स्टॉप के पास हुआ जो कड़ी सिक्युरिटी वाला इलाका है। मीडिया रिपोर्ट्स ने बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुगती के हवाले से बताया कि ब्लास्ट फ्रंटियर कोर के एक ट्रक को निशाना बना कर किया गया।
इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन के डीजी मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक ट्वीट किया, यह हमला इंडिपेंडेंस डे फेस्टिवल में खलल डालने के इरादे से किया गया है। हमारा इरादा किसी चुनौती के आगे घुटने नहीं टेकेगा। सोमवार, 14 अगस्त को पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस है। हमले के बाद आर्मी ने पूरे इलाके को घेर लिया है और हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। धमाका इतना जोरदार था कि आसपास के इलाकों में काफी दूर तक आवाज सुनी गई। इससे लगी आग की चपेट में कई गाड़ियां आ गईं। क्वेटा के ईदी ट्रस्ट के एक आॅफिशियल ने बताया कि मौके पर करीब 15 बॉडी निकाली गई हैं। उन्होंने कहा कि मौत का आंकड़ा ज्यादा हो सकता है।
बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुगती के मुताबिक, बम डिस्पोजल स्क्वाड पता लगा रहा है कि यह फिदायीन हमला था कि या बम ब्लास्ट। अभी किसी आतंकी गुट ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। उन्होंने बताया कि करीब 30 घायलों को इलाज के लिए सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। इनमें से 6-7 लोगों की हालात गंभीर है। उन्होंने 10 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। हालांकि, लोकल टीवी चैनल की रिपोर्ट में 17 लोगों की मौत की बात कही जा रही है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top