0
मिस ट्रांसक्वीन इंडिया 2017 की मेजबानी करेगी दिल्ली


·         27 अगस्त की चकाचौंध भरी शाम को अलग-अलग राज्यों के 16 फाइनल प्रतियोगी मिस ट्रांसक्वीन इंडिया के ताज के लिए स्पर्धा करेंगे। प्रतियोगिता के विजेता को थाईलैंड में होने वाली मिस इंटरनैशनल ट्रांसक्वीन प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिलेगा

·         इस सौंदर्य प्रतियोगिता का मकसद ट्रांसजेंडर महिला को अपनी प्रतिभा और सौंदर्य दिखाने का अवसर मुहैया कराना है। इसके अलावा ट्रांसजेंडर संबंधी विभिन्न मुद्दों के प्रति समाज में जागरूकता फैलाना भी इसका लक्ष्य है


भारत की राजधानी मिस ट्रांसक्वीन 2017 की मेजबानी के लिए पूरी तरह से तैयार है। समाज में हाशिए पर रह रहे लोगों के लिए शायद यह अपनी तरह की पहली सौंदर्य प्रतियोगिता है। प्रतियोगिता के लिए अलग-अलग राज्यों के 16 प्रतिनिधियों का चुनाव देश भर में 15 हजार ट्रांसविमन में से सघन तलाश के बाद किया गया है। इस ड्रॉ का सबसे बड़ा इवेंट यह होगा कि प्रतियोगिता में मिस ट्रांसक्वीन इंडिया का ताज पहनने वाले विजेता को थाईलैंड में होने वाली मिस इंटरनैशनल ट्रांसक्वीन प्रतियोगिता में शिरकत करने का मौका मिलेगा।

रीना राय (मध्य) मिस ट्रांसक्वीन इंडिया 2017 के अंतिम प्रतियोगियों के साथ

सुहानी ड्रीमकैचर्स की 38 साल की रीना राय ने इस अभियान का बीड़ा उठाया है। वह राष्ट्रीय स्तर पर मिस ट्रांसक्वीन इंडिया प्रतियोगिता को आयोजित करने के लिए लगातार प्रयास कर रही हैं। उनका विजन इस प्रतियोगिता के विजेताओं को इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर देना है। इसके अलावा प्रतियोगियों को वह जरूरी सुविधाएं मुहैया कराना भी प्रतियोगिता का मकसद है, जिसके दम पर वह हमारे देश को गर्व की अनुभूति करा सकें। उन्होंने कहा, किन्नर अक्सर खुद को लेकर हीन भावना से घिरे रहते हैं। 

उनमें कोई भी करियर शुरू करने के लिए आत्मविश्वास की कमी होती है। इससे उनके दिमाग में यह भावना आती है कि वह भीख मांगने और मेहनत-मजदूरी को छोड़कर कोई भी काम नहीं कर सकते। हम इसे बदलना चाहते हैं। हमारी सौंदर्य प्रतियोगिता और उसमें होने वाले ग्रूमिंग सेशंस बदलाव का एक प्रतीक है और ट्रांसजेडर्स में बदलाव की उम्मीद जगाते हैं। वह चाहते हैं कि किन्नरों को फैशन, टीवी और इससे जुड़े अन्य क्षेत्रों में मेनस्ट्रीम या मुख्यधारा में प्रतिष्ठित काम मिल सकें।

बाएं से - सिमरन कोहली, रीना रॉय, वरुण काताल, शाइन सोनी, अवलीन खोखर

मिस ट्रांसक्वीन इंडिया 2017 का आयोजन 27 अगस्त को सितारों की चकाचौध भरी शाम को नई दिल्ली के पांच सितारा होटल में सुहानी ड्रीम कैचर्स के संरक्षण में किया जाएगा। मिस ट्रांससेक्सुअल ऑस्ट्रेलिया इंटरनैशनल 2017 की विजेता लेटिसिया फिलिसकिया रवीना इस प्रतियोगिता की विजेता को जीत का ताज पहनाएंगी। इस कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता, डिजाइनर और दिल्ली की नामचीन शख्सियतों के साथ वह सभी लोग हिस्सा लेंगे, जो इस प्रगतिशील कदम को आगे बढ़ाने में मदद करना चाहते हैं।



जब रीना से यह पूछा गया कि ट्रांसविमन के लिए सौंदर्य प्रतियोगिता आयोजित करने का ख्याल उन्हें कैसे आया,  तो उन्होंने कहा, यह सब पिछले साल शुरू हुआ, जब मैं अपने करीबी दोस्त सुशांत दिवगिकर के साथ हिजरा हब्बा नाम के किन्नरों के कार्यक्रम में गई थी। यहां पर इस वर्ग की महिलाओं की बेशुमार प्रतिभा और सुंदरता ने मुझे आकर्षित किया। उस दिन से मैंने उनके लिए कुछ करने और इस अभियान को आगे ले जाने का फैसला किया।



रीना के मिशन में शामिल होने वाले इंडस्ट्री के प्रमुख व्यक्तियों में शेन सोनी भी शामिल हैं, जो इस प्रतियोगिता की शो की डायरेक्टर हैं। उन्होंने कहा, एक मशहूर कहावत है कि आज जो आप कर रहे हैं, कुछ लोग आप पर हंसेंगे, लेकिन कल को वही लोग आपके सफल होने पर आपसे सलाह लेने आएंगे। इसी तरह यह प्रगतिशील भारत की ओर एक पहल है, जहां हम किसी के जेंडर पर ध्यान दिए बिना संपूर्ण मानवता भी भलाई में विश्वास रखते हैं। मैं इस क्रांतिकारी पलों का भाग बनकर काफी गर्व महसूस कर रही हूं। आइए, समाज के इस वर्ग के लिए रंग बिरंगे भविष्य का शानदार विजन बनाएं।


मिस ट्रांसक्वीन इंडिया 2017 में भाग लेने वाले प्रतियोगियों को कई ग्रूमिंग एक्सपटर्स ने प्रशिक्षित किया है, जो इससे पहले कई सौंदर्य प्रतियोगिताओं का भाग रह चुके हैं। प्रतियोगिता के फाइनलिस्ट को ट्रेनिंग देने वालों में प्रमुख प्रशिक्षक और ग्रूमिंग एक्सपर्ट अवलीन खोखर शामिल हैं। अवलीन ने कहा, भारत में ट्रांसजेंडर महिलाओं को लगातार होने वाले भेदभाव की वजह से शिक्षा और रोजगार से वंचित रखा गया है।


हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल अप्रैल में एक आदेश भी पारित किया था कि ट्रांसवुमन को समान अधिकार और सुरक्षा मिलनी चाहिए। मैने हमेशा एक से मंच की जरूरत को महसूस किया है, जहां तीसरे जेंडर को एक दूसरे को गले लगाने और खुद को सशक्त करने का अवसर मुहैया कराया जा सके। हम अपने ग्रूमिंग सेशन में उनकी ओवरऑल पर्सनैलिटी, कम्युनिकेशंस स्किल और उनमें सफल होने के जुनून को देख रहे हैं।


सेलिब्रिटी, न्यूट्रिशन और ब्यूटी एक्सपर्ट डॉ. वरुण कत्याल ने कहा कि इस प्रतियोगिता के माध्यम से हम थर्ड जेंडर को समाज में उचित स्थान दिलाने के लिए और उन्हें सशक्त करने के लिए जागरूकता फैला रहे हैं। हम उनके लिए खूबसूरत दुनिया बनाना चाहते हैं. जहां उन्हें सम्मान से देखा जाए, वह अपने सच्चे मूल्य को पहचान सकें और समाज में सम्मानजनक ढंग से जीवन यापन कर सकें। मिस ट्रांसक्वीन इंडिया 2017 का समर्थन इंडिया एचआईवी/एड्स एलायंस भी कर रही है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top