0

तीन रेलवे स्टेशनों में लगाई आग, हालात बेकाबू 

चंडीगढ़। पंजाब और हरियाणा में में हालात बेकाबू हैं। डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम पर लगे साध्वी यौन शोषण मामले के आरोपों में पंचकूला की सी.बी.आई. की विशेष अदालत की ओर से दोषी करार दिए जाते हीं उनके समर्थक हिंसा पर उतर आए। पंजाब के तीन रेलवे स्टेशन मानसा, बल्लुआणा, मलोट में आग लगा दी। लहरागागा में मोटरसाइकिलों को आग के हवाले किया। पंचकूला कोर्ट के बाहर डेरा समर्थकों के हंगामा करने की खबर है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि पंचकूला में हालात बिगड़ने लगे हैं और सुरक्षाबलों को आंसू गैस के गोले दागने पड़े हैं। पंजाब और हरियाणा में कई स्थानों पर डेरा समर्थकों और पुलिस के बीच झड़पें हुई हैं और इनमें अब तक 13 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मरने वालों की ये संख्या केवल पंचकुला की हैं। कई लोग घायल हुए हैं।
हरियाणा के पंचकुला और पंजाब के फिरोजपुर, बठिण्डा और मानसा में कर्फ्यू लगा दिया गया है। फतेहाबाद, जयतो और फरीदकोट को रेड अलर्ट पर रखा गया है. संगरूर में पुलिस ने चार लोगों को पेट्रोल बम के साथ गिरफ्तार किया है। पंचकुला में कुछ सरकारी इमारतों में आग लगा दी गई है।
हरियाणा के मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने एक बयान जारी कर बताया, हमने पंचकुला में कर्फ्यू लगाया है। आगे की कार्रवाई के लिए हरियाणा कैबिनेट की बैठक की जा रही है।
हिंसा की घटनाओं के चलते 26 अगस्त को पंजाब के कई जिÞलों में स्कूल और कॉलेजों को बंद रखने के लिए कहा गया है। राजस्थान के गंगानगर जिÞले में इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हैं। हरियाणा के पंचकुला और पंजाब के फिरोजपुर, बठिण्डा और मानसा में कर्फ्यू लगा दिया गया है. फतेहाबाद, जयतो और फरीदकोट को रेड अलर्ट पर रखा गया है. संगरूर में पुलिस ने चार लोगों को पेट्रोल बम के साथ गिरफ्तार किया है. पंचकुला में कुछ सरकारी इमारतों में आग लगा दी गई है। इधर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने शांति बनाए रखने की अपील की है।
डेरा प्रमुख के मामले में फैसला तयशुदा वक्त दोपहर 2:30 बजे नहीं सुनाया जा सका क्योंकि बाबा राम रहीम देर से कोर्ट पहुंचे थे। दरअसल, बाबा के काफिले से सिर्फ दो गाड़ियों को कोर्ट तक आने की अनुमति थी। बाबा की गाड़ी को तो आने की मंजूरी मिल गई, लेकिन उनके साथ दूसरी गाड़ी के सिक्यॉरिटी क्लियरेंस पर पेच फंस गया। दूसरी गाड़ी में बैठे समर्थक सुरक्षा जांच कराने को तैयार नहीं थे। गुरमीत राम रहीम 800 गाडिय़ों के काफिले के कोर्ट के लिए रवाना हुए थे।
डेरा प्रमुख गाड़ियों के बड़े काफिले के साथ पंचकुला कोर्ट पहुंचे थे। उनके इस काफिले की सुरक्षा के लिए अभूतपूर्व सुरक्षा बंदोबस्त किए गए थे। इस दौरान कई समर्थकों ने उनके काफिले को रोकने की कोशिश की। हेलिकॉप्टर और ड्रोन कैमरे से काफिले पर नजर रखी जा रही थी. काफिले के साथ जैमर लगी गाड़ियां भी चल रही थीं। राज्य में शाति और किसी बड़ी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस टीम और सेना की तैनाती की गई है। सेना पंचकुला में फ्लैग मार्च कर रही है। इतिहातन के तौर पर पंचकुला और हरियाणा की बिजली काट दी गई है। हरियाणा सहित पंजाब में 72 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद है।
राम रहीम के खिलाफ ये मामला तब चर्चा में आया था जब अप्रैल 2002 में एक साध्वी ने चिट्ठी लिखकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को यौन शौषण की शिकायत भेजी। हाईकोर्ट ने इस चिट्ठी के तथ्यों की जांच के लिए सिरसा के सेशन जज को भेजा और इसके बाद इसी साल दिसंबर में सीबीआई ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत मामला दर्ज कर लिया शिकायतकर्त्ता साध्वी को तलाशने में ही जांच एजेंसियों को चार साल लग गए। साध्वी के बयान लेने के बाद राम रहीम के खिलाफ जुलाई 2007 में सीबीआई ने अंबाला सीबीआई कोर्ट में चार्जशीट फाइल की जहां से ये केस बाद में पंचकूला शिफ्ट हो गया। केस की सुनवाई के दौरान 52 गवाह पेश किए गए, इनमें 15 प्रॉसिक्यूशन और 37 डिफेंस के थे। जून में डेरा प्रमुख के विदेश जाने पर कोर्ट ने रोक लगा दी और जुलाई में इस मामले की रोज सुनवाई के निर्देश दिए। इसका असर ये हुआ कि इसी महीने 17 अगस्त को इस मामले में बहस पूरी हुई और 25 अगस्त के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया गया।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top