0
नई दिल्ली। आनेवाले दो हफ्ते में दिल्ली और आसपास के राज्यों में टमाटर की खेप पहुंच जाएगी, जिससे इसकी कीमतें घटकर 40-45 रुपये प्रति किलो के स्तर पर आ जाएंगी। 100 रुपये किलो पर बिक रहे टमाटर ने आपके किचेन का बजट बिगाड़ रखा है। लेकिन, अब ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। जल्द ही आपको टमाटर की महंगाई से राहत मिलने वाली है। इंडियन काउंसिल आॅफ एग्रीकल्चरल रिसर्च के मुताबिक  अगले दो हफ्तों में दक्षिणी और टमाटर की पैदावार करने वाले दूसरे राज्यों से आपूर्ति बढ़ेगी, जिससे इसकी कीमतों में गिरावट आएगी। दिल्ली की आजादपुर मंडी में टोमैटो मर्चेंट एसोसिएशन का कहना है कि बेंगलुरू से बड़ी तादाद में टमाटर आ रहा है। इसकी खेप दो हफ्तों में दिल्ली और आसपास के राज्यों में पहुंच जाएगी, जिससे टमाटर की कीमतें घटकर 40-45 रुपये प्रति किलो के स्तर पर आ जाएंगी। कंज्यूमर अफेयर्स मिनिस्ट्री के डेटा के मुताबिक, एक महीने से ज्यादा समय से देश के ज्यादातर हिस्सों में टमाटर की खुदरा कीमतें 100 रुपये प्रति किलो के स्तर पर हैं। मिनिस्ट्री के डेटा के मुताबिक, 29 जून को कोलकाता में टमाटर 95 रुपये/किलो, दिल्ली में 92 रुपये/किलो, मुंबई में 80 रुपये/किलो और चेन्नई में 55 रुपये प्रति किलो के स्तर पर थीं। अब दक्षिणी और दूसरे राज्यों से टमाटर की बेहतर आपूर्ति होगी। बारिश घटने के साथ आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना और महाराष्ट्र जैसे दक्षिणी राज्यों से होने वाली टमाटर की सप्लाई बढ़ेगी। इससे इसकी कीमतों में नरमी आएगी। मध्य प्रदेश, राजस्थान और टमाटर की पैदावार करने वाले दूसरे राज्यों में भारी बारिश से फसल को कुछ नुकसान पहुंचा है। टमाटर को मुख्य मंडियों तक ले जानी की ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट भी बढ़ गई है, क्योंकि बारिश के कारण ट्रकों को सामान्य से कहीं ज्यादा वक्त मंडियों तक पहुंचने में लग रहा है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top