0

आतंकियों के पनाहगाह देशों की सूची में किया शामिल
अमेरिकी रिपोर्ट में भारत की आतंकवाद की पीड़ा को भी किया रेखांकित
भारत ने किया घोषणा का स्वागत

नई दिल्ली। अमेरिका ने एक बार फिर पाकिस्तान को आतंकवादियों का पनाहगाह देश बताया है। खास बात यह है कि अमेरिकी रिपोर्ट में भारत की आतंकवाद की पीड़ा को भी रेखांकित किया गया है। पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा भारत में हमले करने के भारत के दावों का भी जिक्र किया गया है। यह भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत है। अमेरिका के इस कदम पर गृह मंत्रालय और भारत के दूसरे नेताओं की तरफ से अलग-अलग प्रतिक्रिया आई है। बीजेपी के कई नेताओं ने कहा है कि अब संयुक्त राष्ट्र को भी यह घोषित करना चाहिए कि पाकिस्तान आतंक का पनाहगाह देश है। गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा है कि अमेरिका ने पाकिस्तान को आतंकवादियों का पनाहगाह देश घोषित किया है। भारत इसका स्वागत करता है। ये बात जगजाहिर है कि पाकिस्तान किस तरीके से अपने यहां आतंकियों को पालता है। वहां से फंडिंग करता है। भारत यह कहता रहा है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ आतंकियों को शह देता आया है। अब अमेरिका ने यह माना है और उसको आतंकियों की पनाहगाह लिस्ट में शामिल किया है। बीजेपी सांसद और पूर्व गृहसचिव आर के सिंह ने कहा, हम सभी देशों को यह बताते रहे हैं कि कैसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआई ड्रग्स के जरिये पैसा उगाहती है और आतंकियों को देती है। अमेरिका को अब ये समझ मे आया है। भारत यह बात हमेशा से कहता रहा है कि पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ है। पाकिस्तान ने पीओके में आतंकियों का गढ़ बना रखा है। बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी जी जब अमेरिका गए, तभी ये तय था कि अमेरिका, पाकिस्तान को लेकर कड़ा कदम उठाएगा। देखिएगा, आने वाले समय संयुक्त राष्ट्र संघ भी पाक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगा। बीजेपी सांसद और मुंबई के पूर्व कमिश्नर सत्यपाल सिंह ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुहिम रंग लाई है। अब संयुक्त राष्ट्र संघ को भी पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करना चाहिए। उसके बाद अमेरिका को पाकिस्तान पर आर्थिक प्रतिबंध भी लगाना चाहिए। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के अनुसार पाकिस्तान में लश्कर-ए तैयबा पर प्रतिबंध है, फिर भी उसके सहयोगी संगठन जमात-उद दावा और फलह-ए इंसानियत फाउंडेशन खुलेआम पाकिस्तान में फंड जमा कर रहे हैं। लश्कर चीफ हाफिज सईद को संयुक्त राष्ट्र ने आतंकी घोषित किया है, फिर भी वो पाकिस्तान की धरती पर इसलिए सार्वजनिक रैलियां कर पा रहा है, क्योंकि उसे पाकिस्तान ने छूट दे रखी है। सईद ने फरवरी 2017 में भी सार्वजनिक रैली को संबोधित किया था। अमेरिका के निर्णय पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बीजेपी उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे ने कहा, अमेरिका ने पाकिस्तान को आतंकवादियों के गढ़ वाला देश माना है। भारत ये बात वर्षों से कहता आया है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कई बार अंतरराष्ट्रीय मंचों से सभी विकसित देशों से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई का आह्वान किया गया है। बीजेपी नेता विनय कटियार ने कहा, भारत जो बात हमेशा से पाकिस्तान को लेकर कहता आया है, वही बात अमेरिका ने किया है। अमेरिका द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक आतंकवाद के मामले में एक बार फिर पाकिस्तान को बड़ा झटका लगा है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top