0

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हुआ था रवाना

नई दिल्ली। बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री लेकर रवाना हुआ वायुसेना का एक हेलिकॉप्टर अरुणाचल प्रदेश में लापता हो गया है,उसमें तीन लोग सवार थे। भारतीय वायु सेना का हेलिकाप्टर पापुम पेरे जिले में सगाली के पास गायब हो गया। हेलिकॉप्टर से आखिरी संपर्क 3 बजकर 50 मिनट पर हुआ।
हेलिकॉप्टर को बाढ़ राहत के लिए भेजा गया था। बाढ़ की वजह से सागली और ईटानगर के बीच रोड बंद हो जाने के कारण फंसे यात्रियों को लाने के लिए इसे तैनात किया गया था। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि नॉर्थ-ईस्ट में मौसम खराब है। मैं सुरक्षित हूं, लेकिन वायुसेना के लापता हुए हेलिकॉप्टर को ढूंढने में पूरी मशीनरी लगी है। मुख्यमंत्री प्रेमा खांडू और राज्य सरकार ने स्थानीय लोगों को इस हेलीकॉप्टर का पता लगाने के लिए जुटाया है।
वहीं इससे पहले मंगलवार को ही केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू के हेलीकॉप्टर को खराब मौसम के कारण आपात स्थिति में ईटानगर में उतारा गया। घटना में केंद्रीय मंत्री को कोई चोट नहीं आई। एमआई-17 श्5 हेलीकॉप्टर में रिजिजू एवं सात अन्य यात्री और चालक दल के सदस्य थे। हेलीकॉप्टर गुवाहाटी से अरुणाचल प्रदेश के लिए जा रहा था जब दोपहर को भारी बारिश और कोहरे से उसकी उड़ान प्रभावित हुई। जिसके चलते आज 3.30 ढट पर एमरजेंसी लैंडिंग एक खेत मे की गई। हेलीकॉप्टर के पायलटों ने खराब मौसम में हेलीकॉप्टर को करीब 10 मिनट तक हवा में रखने के बाद आपात स्थिति में इटानगर में एक छोटे से मैदान में उतारा। पायलट सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के सदस्य हैं। रिजिजू आजतक से बातचीत में किरेन रिजिजू ने कहा की मैं खुशकिस्मत हूं कि सुरक्षित उतरने में सफल रहा जिसका श्रेय बीएसएफ के अनुभवी पायलटों को जाता है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top