0

नागपुर में डूबी नाव, 11 में से 2 की मौत, 6 लापता, रेस्क्यू आॅपरेशन जारी

नागपुर। सेल्फी का शौक मौत की मशीन बनता जा रहा है। महाराष्ट्र के नागपुर के पास वेना डैम में आज सेल्फी के चक्कर में नाव का संतुलन बिगड़ गया और उसके पलटने से दो लोगों की मौत हो गई जबकि छह लोग लापता हैं। उनकी तलाश जारी है। उनके जीवित होने की संभावना कम है। पता चला कि नाव में कुछ लड़के सेल्फी लेने की कोशिश कर रहे थे, जिसकी वजह से नाव का बैलेंस बिगड़ गया और वह पलट गई। अब तक दो लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। वहीं, प्रशासन की तरफ से रेस्क्यू आॅपरेशन जारी है।
  नाव पर कुल 11 लोग सवार थे, उनमें से तीन लोगों को बचा लिया गया है। फिलहाल बाकी लोगों के शवों को ढूंढ़ने का काम चल रहा है। नागपुर देहात के एसपी सुरेश भोयत ने जानकारी दी है कि दो टीमों की मदद से रेस्क्यू आॅपरेशन चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कुछ लड़के यहां पिकनिक मनाने आए थे।
  सेल्फी से मौत की यह न तो पहली घटना है और न ही अंतिम। हाल में तमिलनाडु से अपने परिवार के साथ छुट्टी मनाने मुंबई आई 21 वर्षीय मीनाक्षी प्रिया राजेश की सेल्फी लेते वक्त समुद्र में गिर कर मौत हो गई थी। मीनीक्षी प्रिया राजेश अपनी बहन और मां के साथ बांद्रा बैंडस्टैंड पर सेल्फी ले रही थी। उसी दौरान उसका संतुलन बिगड़ा और वह समुद्र में जा गिरी। इसी तरह सेल्फी के लिए पोज बनाने का प्रयास करते समय 20 साल के एक छात्र की झील में डूबने से मौत हो गई। घटना सिरोही गांव की है जहां बीसीए के प्रथम वर्ष का छात्र अयूब खान अपने तीन दोस्तों के साथ नजदीक की झील पर गया था। डीएवी शताब्दी कॉलेज में बीसीए का छात्र अय्यूब खान बैसाखी की छुट्टी में अपने दोस्त राहुल और राघवेंद्र के साथ धौज इलाके में स्थित सिरोही झील पर घूमने गया था। खाने-पीने के बाद तीनों छात्र झील के गहरे पानी के किनारे खड़े होकर मोबाइल से फोटो लेने रहे थे। अय्यूब फोटो लेने के चक्कर में झील में गहराई तक चला गया। पैर फिसलने के कारण अय्यूब पानी में डूबने लगा। उसे बचाने के लिए उसका एक दोस्त भी गहरे पानी में गया, लेकिन उसे भी तैरना नहीं आता था, तो वह भी डूबने लगा। बाहर खड़े एक दोस्त के शोर मचाने पर आसपास के लोगों ने पानी में कूद कर छात्रों को निकाला, लेकिन तबतक अय्यूब की सांसें थम चुकी थीं। इसी तरह जम्मू-ऊधमपुर एक्सप्रेस हाईवे पर नगरोटा के बन तालाब के पास पुल की रेलिंग पर खड़े होकर सेल्फी लेने के चक्कर में नीचे गिरकर एक युवक की मौत हो गई।
ओड़िशा में झाररसुगुडा के बलजोरी इलाके में एक खड़ी मालवाहक ट्रेन की छत पर सेल्फी लेने के दौरान उच्च क्षमता वाली तार के संपर्क में आने से 20 वर्षीय एक इंजीनियरिंग विद्यार्थी की मौत हो गयी, सेल्फी लेने के प्रयास में 16 वर्षीय एक छात्र की मौत तेज रफ्तार ट्रेन के नीचे आकर हो गई, शादी से 10 दिन पहले एक व्यक्ति मेहरानगढ़ किले से सेल्फी लेते हुए गिर गया जिससे उसकी मौत हो गई।
सेल्फी का यह शौक इतना जनलेवा साबित हो रहा है कि 2014 से अब तक देश में सेल्फी के चक्कर में 127 मौतें हो चुकी हैं।  एक रिसर्च के मुताबिक सेल्फी लेते वक्त होने वाली मौतों के मामले में भारत 20 देशों की तुलना में सबसे अव्वल स्थान पर है। जबकि दूसरे स्थान पर पाकिस्तान और तीसरे नंबर पर अमेरिका है। अमेरिका स्थित कानेर्गी मेलन यूनिवर्सिटी और दिल्ली के इंद्रप्रस्थ इंस्टिट्यूट आॅफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की साझा स्टडी के बाद यह रिपोर्ट प्रकाशित की गई है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top