0

पहले वाघेला फिर अंबिका सोनी का इस्तीफा 

 
अहमदाबाद। कांग्रेस के दिन अच्छे नहीं चल रहे हैं। उसके दिग्गज नेता पार्टी छोड़ रहे हैं। एक तरफ गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता शंकर सिंह वाघेला ने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दिया। दूसरी तरफ कांग्रेस की महासचिव अंबिका सोनी ने कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। वाघेला ने अपने 77वें जन्मदिन पर समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, मेरी पार्टी ने मुझे बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मैंने अपना नाम भगवान शंकर के साथ साझा किया है। मैं जहर भी पचा सकता हूं। मैं 77 साल का हो गया हूं। मैं नहीं छोड़ रहा हूं। आप लोग (समर्थकों) मेरे लिए संजीवनी हो।
वाघेला की शिकायत है कि आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी उन्हें फ्री हैंड नहीं दे रही है। वह पहले भी कांग्रेस पर विधानसभा चुनाव से पहले होमवर्क नहीं करने का आरोप लगा चुके हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वह बीजेपी कभी ज्वॉइन नहीं करेंगे। वाघेला का ये बयान उस समय आया है जब राष्ट्रपति चुनाव में गुजरात के गैर भाजपाई विधायकों ने एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के पक्ष में वोट किया है। सूत्रों के अनुसार, इसमें कांग्रेस के 8 विधायक शामिल हो सकते हैं। ये सभी वाघेला गुट के ही बताए जा रहे हैं। इससे पहले 24 जून को गांधीनगर में समर्थकों को संबोधित करते हुए वाघेला ने कहा था, कांग्रेस नेतृत्व ऐसा ही 'आत्महत्या वाला कदम' उठाते रहेगा तो वह उसे नहीं फॉलो करेंगे। बता दें कि प्रदेश में इस साल के अंत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं। उन्होंने कहा था, मेरी परेशानी यह है कि पार्टी गुजरात चुनाव को लेकर कोई तैयारी नहीं कर रही है। जबकि हम जानते हैं कि चुनाव में एक महीने की भी देरी नहीं होगी। नेतृत्व में दूरदर्शिता का अभाव है। वे नहीं जानते हैं कि कल क्या होने वाला है।
अंबिका सोनी भी कांग्रेस की दिग्गज नेत्री रही हैं। वे हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर की प्रभारी थीं। एक बयान में उन्होंने कहा, मैंने पार्टी नेतृत्व से आग्रह किया है कि मुझे स्वास्थ्य कारणों से उत्तराखंड और हिमाचल के प्रभारी पद से मुक्त किया जाए। उन्होंने मनमोहन सिंह की सरकार में अहम मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाली थी। हालांकि अभी तक पार्टी ने अंबिका के इस्तीफे को मंजूर नहीं किया है। पार्टी सूत्रों का मानना है कि उन्होंने नए नेताओं के लिए रास्ता साफ करने के लिए अपने पद से इस्तीफा दिया है। लेकिन अभी तक कांग्रेस पार्टी की तरफ से किसी भी तरह का आधिकारिक बयान नहीं किया गया है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top