0
बर्न। चार साल की उम्र में लापता हुए माता-पिता की जानकारी अगर 79 वर्ष की उम्र में मिल तो यह कितना रोमांचक होगा, कल्पना की जा सकती है। यह वाकया स्विस महिला मार्सलिन उड्राई डमलिन के साथ पेश आया है। उसके माता पिता 1942 में आल्प्स पहाड़ पर गए थे लेकिन वापस नहीं लौटे। अब 75 साल बाद उनके शव आल्प्स पर्वतों में एक ग्लेशियर में जमे हुए मिले हैं। एक केबल कार कंपनी ग्लेशियर 3000 के एक कर्मचारी को यह शव 8600 फीट की ऊंचाई पर दिखाई दिए। दंपति की पहचान मार्सलिन और फ्रांसिन डमलिन के रूप में हुई है। जब ये दोनों लापता हुए थे तब मार्सलिन की उम्र 40 और फ्रांसिन की उम्र 37 साल थी। हालांकि, पुलिस दोनों शवों के डीएनए टेस्ट करा रही है। ग्लेशियर 3000 के निदेशक बर्नहार्ड श्चानेन ने बताया कि दोनों पास-पास दबे हुए थे। उनका सामान भी जैसे का तैसा पड़ा था। ऐसा लगता है कि दोनों एक हिम दरार में गिर थे। ग्लेशियर पिघलने के बाद दोनों के शव ऊपर आए। मार्सलिन और फ्रांसिन के सात बच्चे हैं। सबसे छोटी बेटी मार्सलिन उड्राई डमलिन ने एक स्विस अखबार को बताया कि जब उनके माता-पिता लापता हुए थे तब वह केवल चार साल की थीं। उन्होंने बताया कि सभी भाई-बहनों ने पूरी जिदंगी उनकी तलाश की। उड्राई की उम्र अब 79 साल है। उड्राई के अनुसार, मां मार्सलिन अध्यापिका थीं जबकि पिता फ्रांसिन मोची का काम करते थे। दोनों 15 अगस्त 1942 की गर्मियों में एल्प के पहाड़ों में हाइक पर गए थे। यहां उनकी गायों को घास चराने के लिए छोड़ा गया था। लेकिन वहां से वापस नहीं लौटे।
उड्राई ने बताया, मेरी मां पहली बार इस तरह की चढ़ाई पर गई थीं। वह ज्यादातर प्रेगनेंट रहती थी और इसके चलते पहाड़ों की चढ़ाई नहीं कर सकती थीं। 75 साल के इंतजार के बाद मैं यह कह सकती हूं कि इस खबर ने मुझे काफी शांति दी है। स्विस मीडिया के अनुसार, स्विट्जरलैंड में किसान गर्मियों में अपनी गायों को चराने के लिए अल्पाइन के ऊंचे स्थानों पर ले जाते हैं। इसी के तहत मार्सलिन और फ्रांसिन पहाड़ों पर गए थे।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top