0

सोनिया की बैठक में हिस्सा नहीं लेगा जेडीयू और सीपीएम
नई दिल्ली। नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष की मुहिम को तगड़ा झटका लगा है और कल होने वाली 16 दलों की बैठक से जनता दल और सीपीएम ने दूरी बना ली है। सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने भी साफ कर दिया कि कल होने वाले साझा प्रेस कांफ्रेंस से उनकी पार्टी दूर रहेगी। जबकि सपा और बसपा ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं अलबत्ता पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जरूर इस बैठक में हिस्सा लेने दिल्ली पहुंच रही हैं।  पश्चिम बंगाल की सीएम का मकसद नोटबंदी के खिलाफ अपने प्रदर्शन को और धार देना भी है। वह राज्य के मुद्दों को लेकर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मुलाकात भी करेंगी। ममता पहले ही 'मोदी हटाओ-देश बचाओ' नाम से राज्यव्यापी अभियान की शुरूआत कर चुकी हैं।  8 दिन का यह अभियान 1 जनवरी से शुरू होगा। तृणमूल कांग्रेस-टीएमसी की स्थापना एक जनवरी को ही हुई थी।  ममता बनर्जी केंद्र के नोटबंदी से जुड़े कदम पर लगातार सख्त रुख अख्तियार किए हुए हैं और वह इसके विरोध में हैं। बनर्जी इसके रोलबैक की मांग कर रही हैं। वह दिल्ली, लखनऊ और पटना में इसे लेकर प्रदर्शन भी कर चुकी हैं।
सूत्रों के मुताबिक एसपी, बीएसपी, लेफ्ट और जेडीयू की दिक्कत यह है  कि ममता बनर्जी और राहुल गांधी की अध्यक्षता में वो कैसे दिखें। उनका मानना है कि अगर ये विपक्ष का साझा कार्यक्रम है तो पहले इसे तय किया जाना चाहिए था। विपक्षी दलों की एकता कांग्रेस ने ही तोड़ी थी और अब वही फिर इसे जोड़ने की कोशिश कर रही है। जो इसमें शामिल हो रहे हैं वो भी इस बात से नाराज हैं कि जब मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष एकजुट था ठीक उसी समय राहुल गांधी ने पीएम से मिलकर विपक्षी एकता को पंक्चर कर दिया। जदयू प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि समूचे विपक्ष को पहले कार्यक्रम की जानकारी दी जानी चाहिए थी। बैठकों के मसौदे तय होते हैं, कोई एक कार्यक्रम नहीं होता है। देश में असमानता है, सांप्रदायिक सद्भाव समाप्त हो रहा है। आखिर इस बैठक का एजेंडा क्या होगा? ये स्पष्ट नहीं है। सभी विपक्षी दल आपस में आदरपूर्वक और सम्मानजनक व्यवहार करेंगे, ऐसी भी आशा की जाती है।
 जेडीयू ने भले अभी बैठक से बाहर रहने का मन बनाया है लेकिन बिहार में उसकी सहयोगी आरजेडीइस बैठक में शामिल हो रही है। पार्टी की तरफ से प्रेमचंद गुप्ता बैठक में जाएंगे। आरजेडी नेता अशोक सिन्हा ने कहा कि नोटबंदी को लेकर होने वाली बैठक में आरजेडी शामिल होगी, यह बैठक सोनिया जी ने बुलाई है। विपक्ष के बिखरने की बात नहीं है, एसपी हो बीएसपी सब लोग इस मुद्दे पर कॉमन पैरामीटर पर हैं कि इससे देश में लोगों को परेशानी हुई है। राहुल गांधी भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से आज शाम 5 बजे मुलाकात करेंगे जिसमें वह नोटबंदी पर पार्टी के अगले कदम पर चर्चा करेंगे। तमिलनाडु से एआईएडीएमके ने भी बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। सूत्रों के मुताबिक पार्टी का मानना है कि वह अपने हिसाब से प्रदर्शन करेगी। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में नोटबंदी पर बनी कमिटी की 28 दिसंबर को बैठक है। इसमें कुछ अहम फैसले लिए जा सकते हैं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top