0

नई दिल्‍ली : रिलायंस जियो की चुनौतियों से निपटने के लिए टेलीकॉम सेवा प्रदाता निजि कंपनी वोडाफोन और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बीएसएनएल ने हाथ मिला लिया है। दोनों के बीच अहम करार हुआ है।
जानकारी के अनुसार, निजी क्षेत्र की ऑपरेटर वोडाफोन तथा सार्वजनिक क्षेत्र की बीएसएनएल ने अखिल भारतीय स्तर पर 2जी अंतर सर्किल रोमिंग करार किया है। इससे जहां दोनों अपने ग्राहकों को बेहतर सेवाएं प्रदान कर सकेंगी, साथ ही कॉल ड्रॉप में भी कमी ला सकेंगी। दोनों कंपनियां अपने 2जी उपभोक्ताओं को रोमिंग के दौरान एक-दूसरे के नेटवर्क से कनेक्टिविटी दे सकेंगी। वोडाफोन के अनुसार, उसे 2जी नेटवर्क के विस्तार में मदद मिलेगी, खासतौर पर ग्रामीण इलाकों में। वहीं शहरी इलाकों में बीएसएनएल अपना नेटवर्क मजबूत करने की कोशिश करेगी।
बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने कहा कि इस करार से वोडाफोन और बीएसएनएल दोनों के ग्राहकों का नेटवर्क कवरेज बढ़ सकेगा। अगले महीने गोवा में ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हम मिलकर बाधारहित कनेक्टिविटी उपलब्ध कराएंगे। मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या के हिसाब से सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी के जून में पांचवें स्थान पर थी। देशभर में उसकी साइटों की संख्या 1,14,000 है। कंपनी की ग्रामीण इलाकों में व्यापक पहुंच है। श्रीवास्तव ने कहा कि वोडाफोन के साथ इस भागीदारी से विशेषरूप से शहरी क्षेत्रों में हमारा नेटवर्क कवरेज बेहतर हो सकेगा। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त टावरों की उपलब्धता से दोनों कंपनियों का कवरेज बढ़ेगा। इससे कॉल ड्रॉप की संभावना कम से कम होगी। देशभर में वोडाफोन इंडिया के टावरों की संख्या 1,37,000 है। वोडाफोन इंडिया के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी सुनील सूद ने कहा कि इससे से वोडाफोन को अपने 2जी नेटवर्क का और विस्तार करने में मदद मिलेगी, विशेषरूप ग्रामीण इलाकों में। उन्होंने कहा कि वोडाफोन ने अपने नेटवर्क के विस्तार और उन्नयन में उल्लेखनीय निवेश किया है। इसके साथ ही करार से वोडाफोन की तमिलनाडु में कवरेज योजना में मदद मिलेगी, जहां वह 900 मेगाहट्र्ज स्पेक्ट्रम दोबारा हासिल करने में सफल नहीं हो पाई, जिसका इस्तेमाल उसने 2015 की नीलामी में 2जी सेवाओं में किया था। वोडाफोन इंडिया ब्रिटेन के वोडाफोन समूह की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी है। इसका परिचालन देशभर में है और इसके उपभोक्ताओं की संख्या 19.9 करोड़ है।
इससे पहले, रिलायंस जियो और सरकारी क्षेत्र की भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने 2जी और 4जी सेवाओं के लिए अपने सर्किलों के अंदर रोमिंग का समझौता किया है। इस समझौते के लागू होने पर बीएसएनएल के ग्राहक रोमिंग में रिलायंस जियो की 4जी सेवाएं हासिल कर सकेंगे तथा रिलायंस जियो के ग्राहक फोन कॉल के लिए बीएसएनएल के 2जी नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकेंगे।
बता दें कि बीएसएनएल की ग्रामीण क्षेत्रों में मजबूत उपस्थिति है और पूरे देश में ग्राहक संख्या के हिसाब से यह पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी है। देश भर में इसे 1,14,000 के करीब नेटवर्क साइट हैं। 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top