0

नई दिल्‍ली : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन पर गुरुवार को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा है। पंजाब जा रहे केजरीवाल को आज बीजेपी महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन पर आज घेर लिया और जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान केजरीवाल को महिलाओं ने चूडि़यां भी दिखाई। बता दें कि दिल्ली में सेक्स सीडी कांड और पंजाब में टिकट के लिए यौन शोषण के आरोपों को मुद्दा बनाकर बीजेपी महिला मोर्चा की सदस्यों ने आज ये विरोध प्रदर्शन किया। उधर, आम आदमी पार्टी ने इसे बीजेपी और दिल्‍ली पुलिस की साजिश करार दिया है।
जानकारी के अनुसार, आज सुबह करीब सात बजे पंजाब जाने के लिए केजरीवाल जैसे ही स्टेशन पहुंचे बीजेपी महिला मोर्चा की कार्यकर्ता भी वहां पहुंच गई। उन्‍होंने केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी की और धक्का मुक्की की कोशिश भी की गई। पुलिस वालों ने काफी मशक्‍कत के बाद केजरीवाल को इस विरोध प्रदर्शन के दौरान बचाया। इसके बाद महिलाओं ने केजरीवाल को चूड़ियां भी दिखाई। बाद में पुलिस वालों और महिलाओं में स्टेशन पर धक्का मुक्की भी हुई। ट्रेन में चढ़ने के बाद भी महिलाएं केजरीवाल के पीछे पीछे जा रही थी। महिलाओं ने केजरीवाल को ट्रेन पर चढ़ने से रोका। बाद में केजरीवाल पंजाब के लिए रवाना हो गए, जहां वे आम आदमी पार्टी के लिए प्रचार करेंगे।
सेक्‍स सीडी कांड में फंसे संदीप कुमार के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहीं इन महिलाओं ने केजरीवाल को चूडि़यां भी दिखाई। महिलाएं संदीप के बचाव में उतरे आशुतोष के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग कर रही थीं। बीजेपी महिला कार्यकार्ताओं का कहना था कि मुख्यमंत्री महिलाओं को प्रताडि़त करने वाले आप के सभी नेताओं के खिलाफ खुल कर बोलें। साथ ही आम आदमी पार्टी से आशुतोष को बाहर किया जाए। गौर हो कि आप के पूर्व मंत्री संदीप कुमार पर राशन कार्ड के लिए महिला का यौन शोषण करने का आरोप है। इन्हीं आरोपों के बाद आप नेता आशुतोष ने ब्लॉग लिखकर संदीप का कथित बचाव किया था। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा कि मोदी जी के इशारे पर दिल्ली पुलिस और बीजेपी मिलकर अरविंद केजरीवाल पर हमले की साजिश रच रहे हैं? क्या आज सुबह की घटना उसका रिहर्सल थी? एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि क्या वजह है कि कल शाम से दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों को चीफ सेक्रेटरी और सीएम ऑफिस द्वारा आगाह करने के बाद भी ये हुआ?

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top