0

श्रीनगर : ईद के दिन भी कश्मीर घाटी में हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। मंगलवार को ईद की नमाज के बाद हुई हिंसा में एक युवक की मौत हो गई, जबकि दर्जनों लोग घायल हो गए हैं। वहीं, घाटी के सभी 10 जिलों में कर्फ्यू जारी है। जानकारी के अनुसार, श्रीनगर में आज बकरीद के मौके पर भी हिंसा की घटना सामने आई। कुछ जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने फिर से पत्‍थरबाजी की। लगाववादियों की ओर से हिंसा की आशंका के बीच सुरक्षाबल बड़ी संख्या में सड़कों पर तैनात हैं।
ताजा जानकारी के अनुसार, कश्मीर के बांदीपुरा इलाके में ईद की नमाज के बाद किए जा रहे विरोध प्रदर्शनों के दौरान सुरक्षा बलों की कार्रवाई में एक व्यक्ति की मौत हो गई। बांदीपुरा, शोपियां के अलावा श्रीनगर में कई जगह हिंसा हुई है। कई वर्षों बाद ये पहला मौका है जब घाटी में ईद के मौके पर 10 जिलों में कर्फ्यू लगा है। इससे पहले, कश्मीर के सभी 10 जिलों में प्रशासन ने मंगलवार को कर्फ्यू लगा दिया है। ऐसा अलगाववादियों की ओर से नमाज के बाद आहूत बंद को देखते हुए किया गया। घाटी में निगरानी के लिए हेलीकॉप्टरों और ड्रोनों को तैनात किया गया है।
अलगाववादियों की ओर से संयुक्त राष्ट्र के स्थानीय अधिकारियों तक मार्च निकालने के आह्वान के मद्देनजर बड़ी संख्या में लोगों के जुटने पर प्रतिबंध लगाया गया है। यह मार्च संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र की शुरूआत के दिन ही पड़ रहा है। महासभा के सत्र की शुरूआत आज न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय पर हो रही है। अधिकारियों ने कहा कि सेना को तैयार रहने के लिए कहा गया है। यदि घाटी में ताजा हिंसा भड़कती है तो सेना हस्तक्षेप करेगी। घाटी में पिछले दो माह से भी ज्यादा समय से तनाव व्याप्त है और अब तक 75 से ज्यादा लोग मारे गए हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों के महत्वपूर्ण स्थानों पर सेना के जवानों को तैनात किया गया है। ये वे इलाके हैं, जहां पूर्व में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए हैं। कर्फ्यू बीती आधी रात से लगाया गया है।
ग्रामीण इलाकों के महत्वपूर्ण स्थानों पर सेना के जवानों को तैनात किया गया है। ये वे इलाके हैं, जहां पूर्व में हिंसक विरोध-प्रदर्शन हुए हैं। कर्फ्यू बीती आधी रात से लगाया गया है।
वहीं, अधिकारियों ने किसी भी तरह की अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए जम्मू क्षेत्र के पांच जिलों में सभी तरह की मोबाइल इंटरनेट सेवा को अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दिया है। मोबाइल सेवा प्रदाताओं को जारी एक अधिकारिक संदेश में अधिकारियों ने पूरे जम्मू क्षेत्र में विभिन्न मोबाइल इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को जम्मू क्षेत्र के जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद करने को कहा है। आज सुबह चार बजे से अगले आदेश तक मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद रखा गया है। यह कदम क्षेत्र में कानून और व्यवस्था से जुड़ी किसी भी समस्या को दूर करने और अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए उठाया गया है।
इस बीच, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल ने कहा है कि कल से पत्थर फेंके जाने की घटनाओं में इसके तीन जवान घायल हो गये हैं। बल ने एक ट्वीट में कहा है, कश्मीर घाटी में पिछले 24 घंटों के दौरान पत्थर फेंके जाने की 23 घटनाओं में सीआरपीएफ के तीन जवान घायल हो गये हैं और सीआरपीएफ के एक वाहन को नुकसान पहुंचा है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top