0

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी पर मुसीबतों का सिलसिला खत्म होता नहीं दिख रहा है। अब दिल्ली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन हवाला के जरिए करोड़ों रुपए के लेनदेन के आरोप में फंसे हैं। सत्येंद्र जैन को आयकर विभाग ने नोटिस जारी किया है। नोटिस के मुताबिक उन्हें 4 अक्टूबर को आयकर विभाग में जवाब पेश करना है। जैन पर हवाला के जरिए 17 करोड़ की रकम के लेनदेन का आरोप लगा है।
आयकर विभाग ने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को समन जारी कर कोलकाता की कुछ फर्मों के खिलाफ कर चोरी के मामले में चल रही जांच के सिलसिले में पेश होने को कहा है। अधिकारियों ने बताया कि जैन को यहां चार अक्तूबर को जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है और साथ ही उन्हें पिछले चार साल के आईटीआर और निजी वित्तीय जानकारी भी साथ लाने का निर्देश दिया है।
उन्होंने बताया कि हाल ही में कोलकाता के आयकर विभाग ने कर चोरी और अवैध वित्तीय लेनदेन के मामले में एक फर्म के खातों की जांच की तो उसे जैन से जुड़े कुछ वित्तीय लेन-देन के रिकार्ड मिले । उन्होंने कहा कि विभाग को कम से कम तीन फर्मों से जुड़े लेन-देन के दस्तावेज मिलने की खबर है, जिनका जैन से संबंध है। विभाग से जुड़े सूत्रों ने कहा, ‘ आयकर विभाग कुछ समय से इस मामले की जांच कर रहा है और इस संबंध में ही समन जारी किया गया है। कोलकाता में तलाशी के दौरान जब्त किए गए दस्तावेजों के बारे में जैन से पूछताछ की जाएगी। ’ समन पर प्रतिक्रिया देते हुए जैन ने कहा कि उन्हें केवल एक गवाह के रूप में बुलाया गया है। मंत्री ने कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है और वह चार अक्तूबर को आयकर विभाग के समक्ष पेश होंगे। जैन ने पत्रकारों से कहा, ‘ एक निवेशक के तौर पर मैंने इन कंपनियों में चार साल पहले निवेश किया था, लेकिन 2013 से मेरा इन कंपनियों से कोई लेना देना नहीं है। मैंने कुछ गलत नहीं किया है। मुझे केवल एक गवाह के तौर पर समन भेजा गया है। यह सिर्फ पुर्नमूल्यांकन है तफतीश नहीं। ’
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि जैन को ‘फंसाया’ जा रहा है और अगर जैन ‘दोषी’ होते तो उन्होंने उन्हें पार्टी से पहले ही निकाल दिया होता । मुख्यमंत्री ने कहा कि वह जैन के साथ खड़े हैं। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘ मैंने आज सुबह सत्येंद्र को बुलाया था। मैंने सारे दस्तावेज देखे। वह निर्दोष हैं उन्हें फंसाया जा रहा है। अगर वह दोषी होते तो हमने उन्हें पार्टी से निकाल दिया होता। ’

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top