0
दिल्ली के छात्रों को DU में मिले 5 प्रतिशत की रियायत, मनीष सिसोदिया ने की स्मृति ईरानी से मांग
मनीष सिसोदिया का पत्र।नई दिल्ली: दिल्ली के छात्रों को दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले में कटऑफ में 5 फीसदी की रियायत मिले। यह मांग दिल्ली के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी से की है। सिसोदिया ने चिट्ठी लिखकर यह मांग की है।

सिसोदिया ने लिखा है कि "दिल्ली के स्कूलों से हर साल पास होने वाले ढाई लाख बच्चों के साथ हो रहे अन्याय की ओर मैं आपका ध्यान दिलाना चाहता हूं। 12वीं तक दिल्ली से पढ़ने के बावजूद इनको दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिला नहीं मिल पा रहा और इसकी वजह है यूनिवर्सिटी में दाखिले की प्रक्रिया में कमी।"

सिसोदिया ने की दो मांगें
 दिल्ली के छात्रों को कटऑफ में 5 फीसदी की रियायत मिले
दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए अलग से टेस्ट हो। क्योंकि विभिन्न कारणों से दूसरे राज्यों के बच्चों के मार्क्स ज्यादा होते हैं। हाल ही में हमने बिहार और गुजरात का टॉपर घोटाला देखा। ऐसे घोटाले का खामियाजा दिल्ली के छात्रों को भुगतना पड़ता है।

मनीष सिसोदिया ने अपनी इस मांग के पक्ष में दलील दी कि "दिल्ली सरकार दिल्ली यूनिवर्सिटी के 28 कॉलेजों को सालाना 300 करोड़ रुपये देती है। यह व्यवस्था इसी सत्र से शुरू होनी चाहिए।"


बीजेपी भी आम आदमी पार्टी सरकार के सुर में सुर मिलाकर आगे बढ़ रही
है। बीजेपी सांसद विजय गोयल ने शुक्रवार को मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी से मिलकर मांग की कि "दिल्ली सरकार जिन 12 दिल्ली यूनिवर्सिटी के कॉलेजों को 100 फीसदी पैसा दे रही है उनमें दिल्ली के छात्रों को 85 फीसदी आरक्षण मिले या फिर कटऑफ में 3-5 फीसदी की रियायत मिले।" विजय गोयल के मुताबिक स्मृति ईरानी ने कहा है कि इस मुद्दे पर वे सेंट्रल यूनिवर्सिटी होने के नाते दखल नहीं दे सकतीं लेकिन दिल्ली यूनिवर्सिटी इस बारे फैसला लेने में सक्षम है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top