0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मोजांबिक को जो चाहिए वो भारत के पास है. हम एक-दूसरे के पूरक हैं. हम दोनों खाद्य सुरक्षा और आतंकवाद सबसे गंभीर खतरा है. प्रधानमंत्री ने आगे कहा, 'हम डिफेंस और सुरक्षा के क्षेत्र में भी मिल-जुलकर काम करने को तैयार हैं. हम नशीले पदार्थों की तस्करी की रोकथाम और इसके नेटवर्क से निपटने के लिए दृढ़ संकल्पि‍त हैं.'
वहीँ देश में दाल की बढ़ती कीमतों की काट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोजांबिक से ढूंढ़ लाए हैं! पीएम मोदी और मोजांबिक राष्ट्रपति फिलिप नयूसी की मौजूदगी में दोनों मुल्कों ने तीन एमओयू पर दस्तखत किए. इसमें लंबे समय तक दाल की खरीद को लेकर भी समझौता हुआ है. दोनों शीर्ष नेताओं की मौजूदगी में मोजांबिक से लंबे समय तक दालों की खरीद, युवा मामले और खेल के क्षेत्र में तीन एमओयू पर हस्ताक्षर हुए. इसके साथ ही मादक दवाओं, मादक पदार्थों और रसायनों के अवैध व्यापार की रोकथाम को लेकर समझौते पर भी हस्ताक्षर किए गए.
गौरतलब है कि इससे पहले मोजांबिक के मापुतो पहुंचने पर प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. मोदी के मोजांबिक की राजधानी पहुंचने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, 'मापुतो में एक सुबह, एक अफ्रीकी सुबह. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी यात्रा के पहले चरण में मोजांबिक पहुंचे.' प्रधानमंत्री ने अपनी पांच दिवसीय यात्रा की शुरुआत मोजांबिक से की है और इसके बाद वह दक्षिण अफ्रीका, तंजानिया और केन्या जाएंगे

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top