0
नई दिल्ली / जम्मू 9जुलाई 2016: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मुठभेड़ में हिज़बुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर बुरहान मुजफ्फर वानी समेत तीन आतंकी ढेर कर दिए गए हैं. बुरहान के सिर पर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित था. दक्षिण कश्मीर में हिजुबल मुजाहिदीन को फिर से जिंदा करने वाला बुरहान, 7 साल से आतंकी गतिविधियों में सक्रिय था. 14 साल की उम्र में ही घर से भाग गया था सुरक्षाबलों का दावा है कि आतंकी बुरहान वानी के निशाने पर अमरनाथ यात्रा थी.
एनकाउंटर के बाद इसका विरोध भी हो रहा है. हिंसक प्रदर्शनकारियों ने जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर सेना के कैंप पर पत्थरबाजी के अलावा कई गाड़ियों में की तोड़फोड़ की है . इसके बाद हाइवे पर गाड़ियों की आवाजाही और अमरनाथ यात्रा रोकी दी गई है. भगवती नगर बेस स्टेशन पर श्रद्धालुओं के नौवें जत्थे को रोका गया है. हालात को देखते हुए कश्मीर में मोबाइल- इंटरनेट के साथ ट्रेन सेवा भी बंद कर दी गई है. कश्मीर में आज होने वाली परीक्षाएं भी स्थगित की गई हैं. और हालात को देखते हुए श्रीनगर के 8 थाना क्षेत्र समेत पुलवामा जिले में कर्फ्यू लगाया गया दिया गया है.
आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर के खिलाफ हुर्रियत ने कश्मीर घाटी में बंद बुलाया था. इसके बाद JKLF के मुखिया यासिन मलिक को हिरासत में लिया गया है. जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि वानी के एनकाउंटर से घाटी में आतंक नहीं खत्म होगा.  राजनीतिक समस्या का हल भी राजनीतिक होना चाहिए.
वहीँ पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला का ट्वीट जम्मू कश्मीर के ताजा हालात पर पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा है कि ये बहुत बड़ी खबर है. इसका मतलब है कि घाटी में आने वाले दिन काफी तनाव भरे होंगे. कश्मीर पंडितों ने सरकार से आतंकी बुरहान वानी का शव उसके परिवार को ना सौंपने की अपील की है.


Post a Comment Blogger Disqus

 
Top