0


नई दिल्ली13 July 2016: मंत्रिमंडल विस्तार के हफ्ते भर बाद मोदी मंत्रिमंडल से दो मंत्रियों- नजमा हेपतुल्लाह और जीएम सिद्धेश्वरा ने इस्तीफा दे दिया है. पांच जुलाई को जब मोदी मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल हुआ था. तब 19 युवा चेहरों को मंत्री पद दिया गया था. तब मोदी मंत्रिमंडल से बुजुर्ग मंत्रियों की विदाई की अटकलें गरमाई थीं. अब हफ्ते भर बाद 75 पार के दो मंत्रियों- नजमा हेपतुल्लाह और GM सिद्धेश्वरा ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है, जिसे मंजूर कर लिया गया है. नजमा हेपतुल्ला के अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय का काम अब राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी देखेंगे. जबकि सिद्धेश्वरा की जगह बाबुल सुप्रियो भारी उद्योग मंत्रालय का राज्यमंत्री बनाया गया है. इस फेरबदल में बाबुल से शहरी विकास राज्य मंत्रालय ले लिया गया है. बाबुल नई जिम्मेदारी से खुश हैं वहीं नजमा हेपतुल्ला ने बयान जारी कर कहा है कि मेरा इस्तीफा निजी कारणों से है.हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि भविष्य में कोई भी जिम्मेदारी मिलती है तो मैं उसके लिए तैयार हूं. सूत्र के आनुसार मोदी कैबिनेट विस्तार के वक्त नजमा और सिद्धेश्वरा का इस्तीफा इसलिये नहीं हो पाया था कि तब दोनों देश से बाहर थे. लेकिन इस घटनाक्रम में मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल से बुजुर्ग मंत्रियों-बाबूलाल गौर और सरताज सिंह की विदाई का प्रसंग नहीं भूलना चाहिए. दोनों ने तब मोदी कैबिनेट में कलराज मिश्र और नजमा हेपतुल्लाह जैसे हमउम्र मंत्रियों के बने रहने पर सवाल उठाया था. नजमा हेपतुल्लाह और सिद्धेश्वरा का इस्तीफा हो चुका है. बचे हैं कलराज मिश्र. यूपी विधानसभा चुनाव से पहले उन्हें हटा कर मोदी सरकार यूपी के ब्राह्मण वोटों को नाराज करने की खतरा मोल लेगी |

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top