0
दिल्ली 12 July 2016: जम्मू-कश्मीरजम्मू-कश्मीर के हालात का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक हुई. दो घंटे चली इस बैठक में प्रधानमंत्री ने पूरे हालात की जानकारी ली. और पीएम ने जम्मू-कश्मीर में पिछले दिनों भड़की हिंसा पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुये घाटी में शांति बनाये रखने की अपील की और इस संबंध में राज्य सरकार को हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बैठक में मोदी ने कहा कि बुरहान वानी एक आतंकवादी था, उसे नेता न बनाया जाए। उसे एक आतंकी की तरह ही देखा जाए। केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह ने बताया कि बैठक के बाद पीएम ने राज्य को हर संभव मदद देने को कहा है. इसके साथ ही हिदायत दी है कि कार्रवाई में किसी निर्दोष के साथ ज्यादती न हो आतंकी बुरहान की मौत पर जम्मू कश्मीर में सब कुछ ठीक नहीं हुआ है. हिंसा में मरने वालों की संख्या 32 हो चुकी है. पीएम आज सुबह की देश लौटे हैं. लौटकर सबसे पहला अहम काम जम्मू कश्मीर के हालात की समीक्षा की. 4 अफ्रीकी देशों के दौरे से भारत लौटे मोदी ने सुबह 10 बजे अहम बैठक की. कश्मीर में चार दिनों से हो रहे हिंसक प्रदर्शन पर आला अधिकारियों ने पीएम को रिपोर्ट दी. यह बैठक दो घंटे तक चली. प्रधानमंत्री मोदी के साथ बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमां स्वराज और शीर्ष सुरक्षा अधिकारी शामिल थे. सोमवार को इससे पहले गृह मंत्री ने पर्रिकर, जेटली, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों के साथ बैठक कर कश्मीर की स्थिति का जायजा लिया था. पीएम मोदी के साथ अफ्रीका गए डोभाल कल ही दौर बीच में छोड़कर वापस आ गए थे. जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने सोपोर जिले में पुलिस की टीम पर हमला किया है. सोपोर के वारपोरा गांव में पुलिस टीम पर हमला किया है. राज्य सरकार की एक उच्चस्तरीय बैठक हालात को लेकर चल रही है. इसीबीच यह घटना हुई है. इलाके में हमलावरों की तलाश में सघन अभियान चल रहा है.  इस हमले में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है सरकार एक्शन में दिख रही है. प्रधानमंत्री के साथ दौरे पर अफ्रीका गये अजीत डोभाल बीच में ही दौरा छोड़कर देश लौट आये तो आज राजनाथ सिंह ने अपना अमेरिका का कार्यक्रम रद्द कर दिया है. 17 से 22 जुलाई तक राजनाथ सिंह अमेरिका दौरे पर जाने वाले थे. लेकिन कश्मीर की स्थिति को देखते हुए उन्होंने दौरा रद्द कर दिया है. अनंतनाग, कुलगाम, शोपियां और पुलवामा जिले में पूरी तरह कर्फ्यू है. जबकि बारामुला, सोपोर और कुपवाडा के कुछ इलाकों में कर्फ्यू है. जबकि श्रीनगर के आठ थाना इलाकों में कर्फ्यू है. साउथ कश्मीर के 4 जिले में कर्फ्यू है. इसके अलावा खानियार, नौहट्टा, रैनावरी, क्रालकुर्द, सफाकदल, मैसिमा, नूरबाग, हब्बाकदल, महाराजगंज में तनाव है. जम्मू कश्मीर की हिंसा को देखते हुए बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर सवाल उठाये हैं. सामना में पूछा है कि बुरहान की मौत पर महबूबा की भूमिका क्या है ? इसके साथ ही शिवसेना ने यह भी कह दिया है कि कहीं महबूबा को घाटी की कमान सौंप कर बीजेपी ने गलती नहीं की है. आतंकी बुरहान के एनकाउंटर में मौत पर पाकिस्तान ऐसे आंसू बहा रहा है जैसे उसका कोई अपना मरा हो. आंसू बहाने वाले आम पाकिस्तानी या पाकिस्तान में पल रहे आतंकी संगठन नहीं बल्कि पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ हैं. शरीफ वही हैं जो भारतीय पीएम मोदी के साथ मिलकर आतंकवाद का मुकाबला करना चाहते हैं. बुरहान पर नवाज शरीफ के आंसू पीएम मोदी को भी नहीं सुहाए. बुरहान एनकाउंटर के बहाने जम्मू कश्मीर में नाक घुसेड़ने की कोशिश कर रहे पाकिस्तान के खिलाफ कांग्रेस ने भी कडा रुख लिया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा है कि सरकार के हर कदम पर साथ देंगे. इस मामले में यह बयान आने के बाद सरकार की ताकत और बढ़ गई है. इससे पहले अफ्रीकी देशों के दौरे के आखिरी दिन केन्या में मोदी बिना नाम लिए पाकिस्तान पर बरसे, कहा  जो आतंकवादियों को पनाह देते हैं उनकी निंदा होनी चाहिए. प्रधानमंत्री मोदी के साथ अफ्रीका दौरे पर गए डोभाल को दौरा बीच में ही छोड़कर सोमवार को स्वदेश लौटना पड़ा. भारतीय सेना द्वारा शुक्रवार को हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को मारे जाने के बाद से कश्मीर घाटी में हिंसक विरोध-प्रदर्शन जारी हैं, जिसमें अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है |

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top