0
जौनपुर 14July 2016: उत्तर प्रदेश के 46 पुलिस अधीक्षकों समेत सौ से अधिकारियों को चूना लगाने वाला ठग अपने एक साथी के साथ बुधवार को चन्दवक से गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों पीलीभीत के रहने वाले हैं। अब तक जितने भी पुलिस कप्तान इस ठग के जाल में फंसे वे अपने को ठगा महसूस करते चुप्पी साध गये लेकिन जौनपुर एसपी ने इसे उजागर कर दिया। दोनों बदमाशों को गुरुवार को मीडिया के सामने पेश किया गया। पुलिस अधीक्षक रोहन पी कनय के अनुसार उनके सीयूजी नंबर पर 7 जुलाई को फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि सर आप बहुत अच्छे अधिकारी हैं। हम आपको एक सूचना देना चाहते हैं। अफगानिस्तान से चलकर भारी मात्रा में माउजर व नशीला पदार्थ लेकर कुछ लोग जौनपुर में आ रहे हैं। वह एक होटल में ठहरने वाले हैं। एसपी ने फोन करने वाले पर विश्वास कर लिया। ठग ने दोबारा फोन किया कि बदमाश माउजर लेकर पहुंचने वाले हैं। लेकिन उनको पहचानने वाले लखनऊ में हैं। उन्हें वहां ले जाने के लिए रिजर्व वाहन चाहिए होगा। गाड़ी वाले को एडवांस देना होगा। उसने दस जुलाई को जलालपुर स्टेशन पर मिलने की बात कही। एसपी ने ठग के बताए हुए खाते में सात हजार रुपया डलवा दिया। दस जुलाई को पुलिस जब जलालपुर पहुंची उसका पता नहीं चला। मोबाइल भी बंद मिला। ठग शातिर किस्म का था। पैसा अपने दोस्त के खाते में मंगाता था। एसपी को जब पता चला कि उनके साथ धोखा हुआ तो उन्होंने एक टीम गठित की। जिस मोबाइल से बात करता था। उसका लोकेशन जनपद पीलीभीत में मिला। एसपी के निर्देश पर जलालपुर थाने में मुकदमा पंजीकृत करा दिया गया। इस कार्य में एसओ जलालपुर विजय कुमार गुप्ता को लगाया गया। पीलीभीत से खाता धारक मो. आलम 13 जुलाई को पुलिस के पकड़ में आ गया। जल्द ही पुलिसिया पूछताछ में वह टूट गया और शातिर ठग मो. सईद के बारे में जानकारी दी। उसने बताया कि सईद भी जौनपुर तक आया है परन्तु वह जरूरी काम बताकर गाजीपुर चला गया है। उसने यह भी बताया कि सईद मादक पदार्थ व हत्या के प्रयास के मामले में 12 साल पंजाब में जेल की सजा काट चुका है। थानाध्यक्ष जलालपुर ने मो. आलम के मोबाइल का लोकेशन पता किया। उसका लोकेशन गाजीपुर के खानपुर में मिला। उससे बातचीत की। कैंट पर मिलने की बात हुई। जब वह वाराणसी जाने के लिए चन्दवक पहुंचा और बस का इंतजार कर रहा था पुलिस ने उसे दबोच लिया। उसके पास से पांच किलो गांजा, दो एटीएम कार्ड व दो सिम कार्ड वाला एक मोबाइल फोन मिला। एसपी ने बताया कि मोहम्मद सईद प्रदेश के विभिन्न जनपदों के करीब चार दर्जन पुलिस कप्तान, अपर पुलिस कप्तान को इसी तरह ठग चुका है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top