0
अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप भले बेहतर स्थिति में हों, लेकिन डेमोक्रेटिक पार्टी की ​हिलेरी क्लिंटन ने अब तक उम्मीद नहीं छोड़ी है। वे अपने प्रयासों में दिन-रात जुटी हुई हैं। नवंबर तक शेष बचे महीनों में चुनावी अभियान की गति बनी रहे इसके लिए धन की व्यवस्था करने के लिए वह भाग-दौड़ कर रही हैं। 
http://i2.cdn.turner.com/cnnnext/dam/assets/151023112135-hillary-clinton-benghazi-hand-large-169.jpg 
पिछले महीने  मई में हिलेरी ने 40 मिलियन डॉलर जुटाने में कामयाबी हासिल की। अप्रैल में एकत्र की गई धन राशि से यह 5 मिलियन डॉलर अधिक है।
न्यूज पोर्टल पोलिटिको डॉट कॉम के अनुसार पार्टी की व्यवस्था के तहत इसमें से 27 मिलियन डॉलर हिलेरी के चुनाव अभियान में खर्च किए जाएंगे। बचे हुए 13 मिलियन डॉलर डेमो​क्रेटिक नेशनल कमेटी और अन्य इकाइयों के कोष में जमा करा दिए गए हैं। 

अभियान के अनुसार हिलेरी अब 42 मिलियन डॉलर के साथ प्राइमरी सत्र के अंतिम दौर में चुनाव मैदान में डटी रहेंगी। इसी दौरान 7 जून को अंतिम बड़ा दिन माना जा रहा है। इस दिन कैलिफोर्निया, न्यू जर्सी न्यू मैक्सिको और अन्य स्थानों पर जहां-जहां चुनाव रह गया है वहां भी संपन्न हो जाएगा। 
हिलेरी के चुनाव अभियान के प्रभारी रॉबी मूक ने सक्रिय सहयोग देने वाले सभी मतदाताओं का धन्यवाद किया है। उनका कहना है​ कि देश के 1.3 मिलियन लोगों का साथ लगातार उन्हें मिल रहा है। हमारे पास चुनाव को जीतने के लिए सभी आवश्यक संसाधन हैं और मतदाताओं के विश्वास का निवेश भी है। मई तक किए गए प्रयासों के परिणामस्वरूप हिलेरी ने प्राइमरी सत्र में कुल 240 मिलियन डॉलर जुटाए। इनमें से 62 मिलियन डॉलर को नेशनल कमेटी और राज्य इकाइयों को भेजा गया।

पोलिटिको डॉट कॉम का कहना है कि उतार-चढ़ाव की इस स्थिति में हिलेरी क्लिंटन पूरी तरह से इस बात पर फोकस हैं कि किस प्रकार वह और अन्य डेमोक्रेट्स नवंबर में जीतने के लिए मतदाताओं का्े प्रभावित करें। 

उनके चुनाव प्रभारी मूक बताते हैं कि अप्रैल में क्लिंटन को 25.1 मिलियन डॉलर मिले थे। फेडरल चुनाव आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक हिलेरी की ही पार्टी के प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार बर्नी सैंडर्स ने 26.9 मिलियन डॉलर जुटा लिए थे। इसमें चौंका देने वाली बात यह रही कि हिलेरी ने डेमोक्रेटिक पार्टी की विभिन्न् कमेटियों से भी 9.5 मिलियन डॉलर प्राप्त कर लिए थे।
द वॉल स्ट्रीट जनरल के मुताबिक कैलिफोर्निया में हिलेरी और सैंडर्स में निर्णायक मुकाबला होने के आसार बन रहे हैं। प्राइमरी के लंबे सत्र में बेहतर प्रदर्शन करने के बाद लग रहा है कि क्लिंटन आसानी से पार्टी को अगले चुनाव में बढ़त दिलाएंगी। कैलिफोर्निया में मुकाबला कड़ा होने के कारण वह अपना पूरा ध्यान वहीं केंद्रित कर रही हैं। उनका ज्यादा से ज्यादा समय वहीं बीत रहा है। देखना होगा कि आने वाले दिनों में वे किसे और किस प्रकार निशाना बनाएंगी।

वॉशिंगटन पोस्ट अखबार का मानना है कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े रहे कई कर्मचारियों और आजाद ख्याल वाले लोगों का विचार है कि डोनाल्ड ट्रंप को राष्ट्रपति बनना देश के लिए खतरनाक होगा। इसलिए वे हिेलेरी क्लिंटन को ही अपना वोट देंगे। ये लोग उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए उपयुक्त मानते हैं। कुछ ऐसा ही रुझान महिलाओं और पुरुष मतदातााओं में देखा जा रहा है। 

पंजीकृत मतदाताओं के सर्वे में हिलेरी के पक्ष में 54 से 30 प्रतिशत महिलाएं हैं और ट्रंप के लिए 51 से 35 प्रतिशत पुरुष। इसी प्रकार बर्नी सैंडर्स के मुकाबले क्लिंटन के प्रति 53 से 39 प्रतिशत मतदाताओं का झुकाव है। मतदाताओं के रुझान की ताजा स्थिति और चुनावी समीकरण आने समय में और स्पष्ट हो जाएंगे।
 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top