0
http://www.nasa.gov/sites/default/files/styles/ubernode_alt_horiz/public/thumbnails/image/valkyrie-robot-4.jpg?itok=mj57hCLN
वाशिंगटन : अमेरिकी कंपनी ने दुनिया के पहले रोबॉट वकील को नौकरी पर रखा। यह रोबोट विधि अनुसंधान से जुड़ी विभिन्न टीमों को अपनी सहायता प्रदान करेगा।  'रॉस' (आर.ओ.एस.एस.) नाम के इस रोबोट का निर्माण आई.बी.एम. की वॉटसन काग्निटिव कंप्यूटर पर आधारित है।

 अनुसंधान से संबंधित अपने सवाल वकील 'रॉस' से पूछ सकेंगे। इसके बाद यह रोबोट कानूनों का अवलोकन करेगा, उनसे साक्ष्य इकट्ठे करेगा, निष्कर्ष निकालेगा और उसके बाद साक्ष्य आधारित सबसे सटीक उत्तर देगा।
'रॉस' अपने उपयोगकर्त्ताओं को अदालत के ऐसे निर्णयों के बारे में चौबीसों घंटे सूचित करता रहेगा जो उनके मामलों को प्रभावित कर सकते हैं। यह ऐसा प्रोग्राम है जो उपयोगकर्त्ता वकीलों से लगातार सीखता रहता है और बदले में उन्हें हर बार बेहतर परिणाम उपलब्ध कराता है। 

'बेकर होसटेटलर' रॉस के उपयोग का लाइसेंस दिवालियापन, पुनर्संरचना और कर्जदाताओं के अधिकार से जुड़ी टीम को देगी।
मुख्य सूचना अधिकारी बॉब क्रेग ने बताया, 'बेकर होसटेटलर में हम मानते हैं कि काग्निटिव कंप्यूटिंग और मशीन से सीखने के अन्य तरीकों से हम अपने मुवक्किलों को दी जाने वाली सेवाओं की गुणवत्ता सुधार सकते हैं। 

'रॉस' का निर्माण करने वाली कंपनी रॉस इंटेलीजेंस ने साल 2014 में टोरंटो यूनिवर्सिटी में इस दिशा में अनुसंधान शुरू किया था। इसका उद्देश्य आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस लीगल रिसर्च असिसटेंट का निर्माण था ताकि वकील अपनी क्षमताओं का स्तर देखकर उसमें सुधार कर सकें।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top