0
http://www.travelwings.com/Assets/Image/Flight-Routs/dubai-cochin-cheap-flights.jpg

नयी दिल्ली -- कोचीन बंदरगाह द्वारा आयोजित तीसरे वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय बंकर सम्‍मेलन का 13 मई,  को आयोजन किया जाएगा। कोचीन बंदरगाह पिछले तीन वर्षों से बंकर व्‍यापार पर ध्‍यान केंद्रित कर रहा है और इसने वित्तीय वर्ष 2015-16 के दौरान इस व्यापार में 47प्रतिशत वृद्धि दर्ज की है।

कोचीन बंदरगाह ने बंकर व्यापार के लिए बहुत ही अनुकूल पारिस्थितिकी प्रणाली स्थापित की है। इस बंदरगाह में एकल खिड़की सुविधा है, जो चौबीसों घंटे काम करती है। बंकर सुविधा मानसून के साथ-साथ गैर-मानसून मौसम में भी परिचालित रहती है, क्‍योंकि वेंडरों ने एमएस श्रेणी नौकाओं का प्रबंध कर रखा है, जो तटीय शिपिंग चैनल से गुजर रहे जहाजों को बंदरगाह सीमा से बाहर आपूर्ति करने में मदद करती हैं। 

कोचीन सीमा शुल्क विभाग ने भी बंकर आपूर्ति के लिए 24 घंटे काम करने की अनुमति की सुविधा दे रखी है। तटीय जहाजों को की जाने वाली माल आपूर्ति पर 5प्रतिशत की दर से लगने वाले वैट ने कोचीन को भारत का सबसे प्रमुख आर्थिक वेंडिंग स्टेशन बना दिया है।

इस सम्‍मेलन में दक्षिण एशिया और खाड़ी के देशों के निवेशक भाग लेंगे, जो इन क्षेत्रों में मूल रूप से स्‍थापित वेंडर हैं। बंकर गुणवत्ता, बुनियादी ढांचे और सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात और भारत से वाणिज्य के क्षेत्र में व्यापार विशेषज्ञों को वक्‍ताओं के रूप में विभिन्‍न सत्रों में शामिल किया गया है। सभी प्रमुख तेल कंपनियों- आईओसीएल, बीपीसीएल और एचपीसीएल तथा भारतीय बाजार के दिग्‍गज इस उच्च संवादमूलक सम्‍मेलन में भाग ले रहे हैं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top