0
http://www.amaderbarisal.com/wp-content/uploads/2014/02/Hoky-logo.jpg
बैंगलुरु : एफआईच चैंपियंस ट्राफी के लिए यहां भारतीय खेल प्राधिकरण सेंटर में कड़ा अभ्यास कर रहे भारतीय हॉकी खिलाड़ी अब एक सप्ताह का ब्रेक लेंगे और इस दौरान अपने अपने शहरों में लौटकर परिवार से मिलेंगे लेकिन टीम के मुख्य कोच रोलैंट ओल्टमैंस ने खिलाड़ियों को इस ब्रेक के दौरान अपनी फिटनेस का पूरा ध्यान रखने और मिठाई-बिरयानी जैसी लजीज चीजों से दूर रहने की सलाह दी है।  
 
भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच और हॉकी इंडिया के हाई परफार्मेंस निदेशक रोलैंट ओल्टमैंस ने खिलाड़ियों में नई ऊर्जा भरने के लिए यह फैसला किया है। हॉकी टीम के खिलाड़ी एक सप्ताह के ब्रेक के बाद फिर से 29 मई को एकत्रित होंगे। ओल्टमैंस का मानना है कि इस ब्रेक से खिलाड़यिों को ताजा दम होने और चैंपियंस ट्राफी के लिये तैयार होने में मदद मिलेगी।  
 
ओल्टमैंस ने कहा कि पांच जून के बाद से टीम एक महीने के लिए दो अलग अलग देशों में दो अलग अलग टूर्नामेंट में खेलेगी। इस दौरान खिलाड़ियों को न केवल शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी मजबूत रहना होगा। हम अब एक मुश्किल दौर में प्रवेश करने जा रहे हैं और हमारा लक्ष्य ओलंपिक से पहले खुद को तैयार कर लेना है। खिलाड़ियों के लिए एक सप्ताह का ब्रेक लेना जरूरी है ताकि वे खुद को तरोताजा कर सकें। 
 
 मुख्य कोच ने हालांकि खिलाड़ियों को सलाह दी है कि इस ब्रेक के दौरान वे पौष्टिक खाना खायें और मिठाई या बिरयानी से पूरी तरह परहेज रखें। खिलाड़ियों को एक निश्चित कार्यक्रम भी दिया गया है जिसका उन्हें ब्रेक के दौरान पालन करना है। कोच का कहना है कि इस कार्यक्रम में जिम और रनिंग शामिल हैं ताकि उनका मौजूदा फिटनेस स्तर बना रहे।  
 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top