0
- प्रेमबाबू शर्मा
बैंक ऑफ बड़ौदा ने उत्कृष्ट ग्राहक सेवा तथा ग्राहकों से सहज संवाद करने की दिशा में बैक कर्मियों को क्षेत्रीय भाषाओं के प्रशिक्षण की शुरुआत कर एक अनूठी पहल की है। कुछ अन्य केन्द्रों पर भी यह प्रशिक्षण माह मई 2016 से प्रारंभ किया जाएगा।      

अब बैंक हिन्दीतर भाषी क्षेत्रों में अपने स्टाफ सदस्यों को हिन्दी भाषा के साथ-साथ उन प्रान्तों की क्षेत्रीय भाषाओं का प्रशिक्षण भी दे रहा है जिन्हें वहां की स्थानीय भाषा का ज्ञान नहीं हैं। बैंकिंग क्षेत्र में कर्मचारियों के लिए भाषा प्रशिक्षण की ऐसी अनूठी पहल करने वाला बैंक ऑफ बड़ौदा देश का पहला सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है। बैंक के कार्पोरेट कार्यालय, मुंबई में मराठी भाषा प्रशिक्षण का शुभारम्भ महाप्रबंधक (मानव संसाधन प्रबंधन) श्रीमती विन्ध्या जे. रमेश ने किया.

इस प्रशिक्षण को दो चरणों में प्रारंभ किया गया है। पहले चरण में नए भर्ती किए गए अधिकारियों को बैंक के प्रशिक्षण केन्द्रों में प्रारम्भिक प्रशिक्षण के साथ ही स्थानीय भाषा का प्रशिक्षण दिया जा रहा है तथा दूसरे चरण में हिन्दीतर भाषी क्षेत्रों में पदस्थ मौजूदा स्टाफ सदस्यों को अपने प्रशासनिक कार्यालयों में स्थानीय भाषा का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 

इस प्रशिक्षण हेतु प्रत्येक क्षेत्रीय भाषा पढ़ने एवं बोलने हेतु 20 घंटे का पाठयक्रम तैयार किया गया है। शुरुआती दौर में यह प्रशिक्षण मुंबई एवं पुणे (मराठी), हैदराबाद एवं विशाखापट्टनम (तेलुगु), बेंगलुरू (कन्नड़), बड़ौदा (गुजराती), कोलकाता (बांग्ला), चण्डीगढ़ (पंजाबी)  में प्रारंभ किया गया है। 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top