0
नयी दिल्ली -- उच्चतम न्यायालय ने देश में होने वाली सड़क दुर्टनाओं में मदद  करने वाले लोगों यानी दुर्घटना स्थल पर मौजूद या गुजर रहे लोगों द्वारा मदद पहुंचाने वालों की नेकी के बारे में एक निर्णय दिया। 

http://i9.dainikbhaskar.com/thumbnail/680x588/web2images/www.bhaskar.com/2016/01/28/ambulance_1453941707.jpg
अदालत ने अपने फैसले में कहा   मामलों की जांच में पुलिस को नेक लोगों द्वारा दाखिल हलफनामे को पूरा बयान मानना होगा। यदि बयान दर्ज किया जाता है तो एक ही दौर की जांच में पूरा बयान दर्ज किया जाना चाहिए। 

इसके अतिरिक्त मुकदमे की सुनवाई करने वाली अदालत नेकी करने वाले लोगों को सामान्यतः अदालत में हाजिर होने के लिए जोर नहीं डालेगी।
 
सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय ने 12-05-2015 को नेकी करने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए अधिसूचना जारी की। यह अधिसूचना लिंक http://www.morth.nic.in/showfile.asp?lid=1709 पर उपलब्ध है। 

मंत्रालय द्वारा जांच के दौरान नेकी करने वाले लोगों से पुलिस पूछताछ की मानक प्रक्रियाओं से संबंधित अधिसूचना 21-01-2016 को जारी की। यह  लिंक http://www.morth.nic.in/showfile.asp?lid=2002  पर उलब्ध है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top