0
http://report4india.com/wp-content/uploads/2015/12/indian-navy-women-300x225.jpgनयी दिल्ली -- भारतीय नौसेना ने गत कई महीनों में महिला अधिकारियों को सशक्त बनाने के लिए कई प्रगतिशील और पहली बार शुरू की गए कार्यक्रमों की शुरुआत की है।
महिला अधिकारियों को समान अवसर प्रदान करने की महत्ता को पहचानते हुए 2008-09 में शामिल होने वाली शिक्षा और नौसेना कंस्ट्रक्टर ब्रांच की शार्ट सर्विस कमीशन अधिकारियों में से 7 महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन प्रदान किया गया है।

नौसेना द्वारा महिला अधिकारियों के लिए रोजगार के अन्य अवसर पर खोले गए हैं। 2017 से महिला अधिकारी समुद्री सर्वेक्षण विमान यानी बोइंग पी8आई,डोर्नियर आई में पाइलट और नौसेना शस्त्रीकरण निरीक्षणालय कैडर में भी शामिल होने का विकल्प चुन सकेंगी। इसके साथ ही महिला अधिकारियों के लिए कुल 8 शाखाओं और कैडर में शामिल होने के विकल्प होंगे।

नौसेना महिलाओं के लिए उचित सुविधाओं वाले चुने हुए युद्धपोत में सेवा करने के लिए भी नीति को अंतिम रूप दे रही है।

महिलाएं पुरूषों से किसी भी कार्य में कम नहीं है और कठिन साहसिक गतिविधियो में भी बेहतर प्रदर्शन कर सकती हैं। इस भावना को प्रदर्शित करने के लिए वर्ष 2017 में देश में निर्मित समुद्र नौकायन पोत मेहादेई द्वारा विश्व की परिक्रमा करने के लिए कप्तान सहित 6 महिला नौसेना अधिकारी कठिन अभ्यास कर रही हैं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top