3
http://media2.intoday.in/aajtak/images/stories/032016/statue_145739183687_650x425_030816043633.jpgनासिक : जैन धर्म के पहले तीर्थंकर भगवान ऋषभदेव की 108 फुट ऊंची प्रतिमा को ‘गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड्स में सबसे विशाल जैन प्रतिमा के रूप में शामिल किया गया है। 

इस प्रतिमा को एक ही पत्थर को तराशकर बनाया गया है। यह भव्य प्रतिमा उत्तरी महाराष्ट्र जिले में बेगलान तहसील के तेहराबाद गांव के मंगी तुंगी पर्वत पर स्थित है। 

  मंगी तुंगी ट्रस्ट के महासचिव संजय पापादीवाल ने बताया कि ‘गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड्स’ के अधिनिर्णायक स्वप्निल दांगीकर ने इसे दुनिया की सबसे विशाल जैन प्रतिमा का प्रमाणपत्र प्रदान किया।
 
उन्होंने बताया कि प्रसिद्ध दिगंबर जैन तीर्थस्थल मंगी तुंगी में दांगीकर ने यह प्रमाणपत्र जैन साध्वी ज्ञानमती माताजी और चंदनमती माताजी को सौंपा। अभी तक कर्नाटक के श्रवनबेलागोला में स्थित 57 फुट उंची भगवान बाहुबली की प्रतिमा का दुनिया की सबसे विशाल प्रतिमा की मान्यता मिली हुई थी। पापादीवाल ने बताया कि मंगी तुंगी पर्वत के एकलौते पत्थर को तराशने में 300 से ज्यादा शिल्पकारों ने काम किया। इसका काम 2012 में शुरू किया गया था।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top