0

http://www.brookings.edu/~/media/research/images/a/ap%20at/army_fieldartillery001.jpg
नई दिल्ली : भारत एक बार फिर दुनिया में हथियारों का सबसे बड़ा आयातक बन गया है जबकि रूस इस क्षेत्र का सबसे बड़ा निर्यातक है और 70 प्रतिशत भारतीय बाजार उसके हिस्से में है। स्टॉकहोम स्थित एक थिंक टैंक ने कहा कि दुनियाभर में आयात किए जा रहे हथियारों में से 14 प्रतिशत भारत करता है और वह चीन तथा पाकिस्तान के आयात से तीन गुना अधिक है। 
 
 2011-15 के बीच शीर्ष 10 हथियार आयातकों में छह एशियाई और आेसियान देश हैं। वैश्विक आयात के 14 प्रतिशत हिस्से के साथ भारत पहले नंबर पर है। 4.7 प्रतिशत आयात के साथ चीन दूसरे स्थान पर, 3.6 प्रतिशत के साथ ऑस्ट्रेलिया तीसरे स्थान पर जबकि 3.3 प्रतिशत के साथ पाकिस्तान चौथे स्थान पर है। थिंक-टैंक का दावा है,‘‘बड़े पैमाने पर आयात का कारण यह है कि भारतीय हथियार उद्योग अभी तक स्वदेशी डिजाइन वाले प्रतियोगी हथियार बनाने में असफल रहे है।’’  
 
भारत को हथियारों के आपूर्तिकर्ता के रूप में  अमेरिकी आयात भी बढ़ रहा है। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट ने ‘अंतरराष्ट्रीय हथियार हस्तांतरण में रूझान’ नामक अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2006-10 के मुकाबले 2011-15 में हथियारों के आयात में 90 प्रतिशत वृद्धि हुई है। वर्ष 2013, 2014, 2015 में भारत दुनिया का सबसे बड़ा हथियार आयातक रहा है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top